CG Weather: चक्रवाती घेरे का प्रभाव, कई जिलों में बारिश-बिजली की चेतावनी, जानें क्या कहता है मौसम विभाग

इन दोनों के प्रभाव से आज शुक्रवार को प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने अथवा गरज चमक के साथ बौछार की संभावना है ।प्रदेश में 15 अक्टूबर तक बारिश के आसार बने हुए हैं।

mp weather

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। अलग अलग स्थानों पर बने वेदर सिस्टम के कारण छत्तीसगढ़ में अभी तीन चार दिनों तक बारिश का दौर जारी रहने वाला है। । छग मौसम विभाग (CG Meteorological Department) ने आज शुक्रवार 7 अक्टूबर 2022 को छत्तीसगढ़ के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कई जगहों पर गरज-चमक के साथ बिजली गिरने की संभावना जताई है।वही प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात भी होने के भी आसार है। उत्तर-प्रश्चिम की हवाएं अब छत्तीसगढ़ की ओर होने लगी है, ऐसे में अनुमान है कि अक्टूबर के आखरी सप्ताह से ठंड का आगाज हो जाएगा।

यह भी पढे…शासकीय कर्मचारियों की बड़ी तैयारी, एरियर, पुरानी पेंशन बहाली और ग्रेड पे की मांग, मिलेगा लाभ! जानें अपडेट

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Forecast) के अनुसार, एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा तटीय आंध्र प्रदेश और उसके आसपास 3.1 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक द्रोणिका तटीय आंध्र प्रदेश से उत्तराखंड तक विदर्भ होते हुए 3.1 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। इन दोनों के प्रभाव से आज शुक्रवार को प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने अथवा गरज चमक के साथ बौछार की संभावना है ।प्रदेश में 15 अक्टूबर तक बारिश के आसार बने हुए हैं।

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र, पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता और आंध्र में चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के कारण छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और उत्तराखंड तक फैली द्रोणिका का देश के मौसम पर असर हो रहा है। इन अलग अलग वेदर सिस्टमों के कारण विभिन्न राज्यों में बारिश का दौर जारी है और अगले कुछ दिनों तक मौसम के ऐसे ही बने रहने के आसार है।

यह भी पढ़े…18 महीने के पेंडिंग DA Arrear पर नई अपडेट, कर्मचारियों को जल्द मिलेगी राहत, खाते में आएगी मोटी रकम!

राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक एक जून 2022 से अब तक राज्य में 1262.0 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 06 अक्टूबर तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बीजापुर जिले में सर्वाधिक 2408.4 मिमी और सरगुजा में जिले में सबसे कम 598.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।

देखें जिलेवार बारिश की स्थिति

राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 1012.3 मिमी, बलरामपुर में 1032.1 मिमी, जशपुर में 1050.9 मिमी, कोरिया में 882.6 मिमी, रायपुर में 926.3 मिमी, बलौदाबाजार में 1168.7 मिमी, गरियाबंद में 1268.1 मिमी, महासमुंद में 1162.2 मिमी, धमतरी में 1312.4 मिमी, बिलासपुर में 1454.6 मिमी, मुंगेली में 1315.0 मिमी, रायगढ़ में 1220.8 मिमी, जांजगीर-चांपा में 1378.9 मिमी, कोरबा में 1222.7 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 1080.3 मिमी, दुर्ग में 972.0 मिमी, कबीरधाम में 1121.5 मिमी, राजनांदगांव में 1220.4 मिमी, बालोद में 1285.8 मिमी, बेमेतरा में 720.0 मिमी, बस्तर में 1821.4 मिमी, कोण्डागांव में 1276.4 मिमी, कांकेर में 1539.1 मिमी, नारायणपुर में 1462.4 मिमी, दंतेवाड़ा में 1812.8 मिमी और सुकमा में 1609.9 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।