अब सेहत सखियां और आशा सहयोगिनी करेंगी ग्रामीण महिलाओं को जागरूक

128

डिंडोरी। प्रकाश मिश्रा ।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत मातृ शिशु मृत्यु दर में कमी लाने तथा गर्भवती एवं धात्री महिलाओं के पोषण आहार को संतुलित कर बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने की दिशा में सरकार कई तरह की योजनाओं का संचालन ग्रामीण क्षेत्रों में कर रही है। इसी क्रम में सहभागी सीख एवं क्रियान्वयन(पी एल ए) के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को सेहत सखियों के रूप में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इनके साथ ही आशा सहयोगियों को भी मातृ शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के प्रयासों से प्रशिक्षित किया जा रहा है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर आर के मेहरा से प्राप्त जानकारी के अनुसार फिलहाल यह प्रशिक्षण कार्यक्रम जिले के दो विकास खंडों डिंडोरी समनापुर के लगभग 300 गांवों में संचालित किया जा रहा प्रशिक्षण कार्यक्रम न्यूसिड संस्था जबलपुर के द्वारा आयोजित किए जा रहे हैं संस्था के प्रशिक्षक उमा गणेश लोधी ने बताया कि इसके अंतर्गत चार चार दिवसीय प्रशिक्षण महिलाओं को दिए जा रहे हैं ।

सेहत सखियों के रूप में प्रशिक्षित यह ग्रामीण महिलाएं अपने ग्राम स्तर पर अन्य महिलाओं को जागरूक करने, सही पोषण आहार की जानकारी देने तथा स्वास्थ्य संबंधी अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी। जानकारी के अनुसार यह प्रशिक्षण कार्यक्रम आगामी मार्च महीने तक संपन्न किये जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here