मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बड़ी खबर, 90% मंत्रियों को बदलने की तैयारी! चर्चाओं का बाजार गर्म

प्रक्रिया के तहत मंत्रियों के शपथ ग्रहण के समय उनके नामों की घोषणा की जाएगी।

डिप्टी सीएम

गांधीनगर, डेस्क रिपोर्ट। गुजरात (gujarat) में एक बार फिर से मंत्रिमंडल का विस्तार (cabinet expansion) टल गया है। अचानक मंत्रिमंडल विस्तार टलने को कई मुद्दों से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं चर्चा है कि 16 सितंबर को 1:30 बजे मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। वही खबर आ रही है कि बीजेपी (BJP) में मंत्रिमंडल विस्तार (gujarat cabinet expansion) से पहले घमासान की स्थिति है। राज्य भर में जो भी बैनर (banner) लगाए गए थे, उसे फाड़ दिया गया है। वही चर्चाओं की माने तो मंत्रिमंडल में बड़ा बदलाव किया जा सकता है।

इसके अलावा 90 फीसद मंत्रियों (ministers) को कवायद चल रही है। जिसके बाद कई विधायक (MLA) ने पूर्व मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से उनके घर पर मुलाकात की है। चर्चाओं के अनुसार, डिप्टी सीएम नितिन पटेल deputy CM Nitin patel) सहित विजय रूपाणी सरकार (vijay rupani government) के सभी 22 मंत्रियों को हटा दिया जाएगा।

गुजरात के नए मुख्यमंत्री और पहली बार के विधायक भूपेंद्र पटेल (bhupendra patel) ने विधानसभा चुनाव (assembly election) से एक साल पहले विजय रूपाणी के अचानक पद से हटने के दो दिन बाद सोमवार को शपथ ली। रविवार को सर्वसम्मति से भाजपा विधायक दल के नेता चुने गए पटेल (59) को राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने राजभवन में एक सादे समारोह में राज्य के 17वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई।

Read More: मप्र राज्यसभा चुनाव : कांग्रेस नही उतारेगी उम्मीदवार, बीजेपी से चर्चा में इनके नाम

मंगलवार को भाजपा के एक नेता ने कहा कि अगले दो दिनों में और मंत्रियों के शपथ ग्रहण की संभावना है क्योंकि सोमवार को केवल पटेल (59) ने शपथ ली थी। गुजरात बीजेपी प्रवक्ता यमल व्यास ने मंगलवार को कहा था चर्चा चल रही है और शपथ ग्रहण बुधवार या गुरुवार को होगा। उन्होंने कहा कि प्रक्रिया के तहत मंत्रियों के शपथ ग्रहण के समय उनके नामों की घोषणा की जाएगी।

पार्टी सूत्रों ने कहा कि मंत्री पद के कुछ उम्मीदवारों ने मंगलवार को राज्य भाजपा प्रमुख सीआर पाटिल से मुलाकात की। राज्य भाजपा हलकों में अटकलें हैं कि क्या रूपाणी के नेतृत्व वाले मंत्रालय में डिप्टी सीएम नितिन पटेल को नए मंत्रिमंडल में बरकरार रखा गया है। पार्टी सूत्रों ने कहा कि जहां तक ​​संभव होगा वरिष्ठ नेताओं को कैबिनेट में शामिल करने का प्रयास किया जाएगा।

सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले सोमवार रात पटेल और पाटिल से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि कैबिनेट गठन पर चर्चा होने की संभावना है। इस बीच, भूपेंद्र पटेल की प्रतिष्ठित पद पर पदोन्नति का श्रेय गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश की वर्तमान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से उनकी निकटता को दिया जा रहा है।

दिसंबर 2022 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव के साथ, भाजपा चुनावी जीत के लिए पाटीदार भूपेंद्र पटेल पर भरोसा कर रही है। 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 182 में से 99 सीटें जीती थीं और कांग्रेस को 77 सीटें मिली थीं। Corona महामारी के दौरान भाजपा शासित राज्यों में पद छोड़ने वाले चौथे मुख्यमंत्री रूपाणी ने इस साल 7 अगस्त को कार्यालय में पांच साल पूरे किए।