MP: कर्मचारियों-अधिकारियों के लिए बड़ी खबर, प्रस्ताव को मंजूरी, ऐसे मिलेगा लाभ

समस्त कलेक्टर और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को पंचायत एवं नगरीय निकाय चुनाव के मतदान दलों और निर्वाचन से जुड़े अन्य अधिकारी-कर्मचारियों को डोज लगवाने के लिये कहें।  

governmet employee news
demo pic

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए काम की खबर है। पंचायत चुनाव और नगरीय निकाय चुनाव में ड्यूटी वाले अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से आवश्यक सूचना जारी की गई है।मध्य प्रदेश में पंचायत और नगरीय निकाय के चुनाव में मतदान दलों और निर्वाचन कार्यों से जुड़े अधिकारी-कर्मचारियों को कोविड-19 वैक्सीन की प्रिकॉशन डोज लगाई जायेगी। कोविड-19 प्रिकॉशन डोज लगाने की मंजूरी लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी के प्रस्ताव पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने दी।

यह भी पढ़े.. MPPSC 2021: उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर, इस परीक्षा केंद्र में परिवर्तन, जानें अपडेट्स

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी के प्रस्ताव पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मांडविया ने तत्काल स्वीकृति प्रदान करते हुए कहा कि आज से ही प्रिकॉशन डोज देना शुरू कर दें। स्वास्थ्य मंत्री ने एम.डी. एनएचएम प्रियंका दास को कहा कि समस्त कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को पंचायत एवं नगरीय निकाय चुनाव के मतदान दलों और निर्वाचन से जुड़े अन्य अधिकारी-कर्मचारियों को डोज लगवाने के लिये कहें।  मतदान दलों और अन्य कर्मचारियों के प्रशिक्षण सत्र स्थल पर डोज लगाने के लिये विशेष सत्रों का आयोजन किया जाये। वही जिन अधिकारी-कर्माचारियों की पंचायत एवं नगरीय निकाय चुनाव में ड्यूटी है, वे ड्यूटी आदेश की जानकारी देकर डोज लगवाना सुनिश्चित करें।

आज उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीसी

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकायों और त्रिस्तरीय पंचायतों के मतपत्र मुद्रण के लिए कागज की व्यवस्था एवं अन्य विषयों पर चर्चा के लिए 14 जून को सुबह 11 बजे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की जायेगी। वीडियो कॉन्फ्रेंस में सभी जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारी, निर्वाचन अधीक्षक और नोडल अधिकारी शामिल होंगे।

महापौर के लिये 1 और पार्षद पद के लिए अब तक 212 नाम निर्देशन-पत्र प्राप्त

नगरीय निकाय निर्वाचन-2022 में 13 जून को शाम 6 बजे तक प्राप्त जानकारी के अनुसार महापौर पद के लिए एक और पार्षद पद के लिए 212 नाम निर्देशन-पत्र प्राप्त हुए हैं। नाम निर्देशन-पत्र भरने का कार्य 11 जून से शुरू हुआ है।  नाम निर्देशन-पत्र लेने की अंतिम तारीख 18 जून (अपरान्ह 3 बजे तक) है। नाम निर्देशन-पत्रों की संवीक्षा 20 जून को होगी। अभ्यर्थिता से नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 22 जून (अपरान्ह 3 बजे तक) है। इसी दिन अभ्यर्थियों को निर्वाचन प्रतीकों का आवंटन होगा।

  • महापौर पद के लिए नगरपालिक निगम इंदौर में एक अभ्यर्थी ने नाम निर्देशन-पत्र प्रस्तुत किया।
  • पार्षद पद के लिए मुरैना जिले में 4, भिंड में 15, ग्वालियर में 19, दतिया में 2, शिवपुरी में 7, अशोकनगर में 6, सागर में 16, टीकमगढ़ में 18, छतरपुर में 16, सतना में 22, रीवा में 12, सीधी में 4, सिंगरौली में 2, उमरिया में एक निर्देशन-पत्र प्रस्तुत किया गया।
  • जबलपुर में 2, बालाघाट में एक, सिवनी में 7, नर्मदापुरम में 3, रायसेन में 9, विदिशा में 12, सीहोर में 11, राजगढ़ में एक, शाजापुर में 5, देवास में 4, खण्डवा में एक, खरगोन में एक, इंदौर में 8, रतलाम में 2 और नीमच जिले में एक नाम निर्देशन-पत्र प्रस्तुत किया गया।

बता दे कि प्रथम चरण का मतदान 6 जुलाई और दूसरे चरण का मतदान 13 जुलाई को सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। प्रथम चरण की मतगणना और परिणाम की घोषणा 17 जुलाई और दूसरे चरण की मतगणना और परिणाम की घोषणा 18 जुलाई को सुबह 9 बजे से होगी।निर्वाचन 347 नगरीय निकायों में होगा। इनमें 16 नगरपालिक निगम, 76 नगर पालिका परिषद और 255 नगर परिषद हैं।