Dabra: सिंध नदी पुल की स्थिति पर क्या बोले भारतीय नेशनल हाईवे के उपमहाप्रबंधक

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के ग्वालियर चंबल संभाग (gwalior-chambal division) में बारिश के कारण बाढ़ (MP Flood) के हालात बने हुए हैं और स्थिति बेहद गंभीर हो गई है, लगातार बारिश (heavy rain) की वजह से कई नदियों उफान पर हैं। इनमें से एक डबरा (dabra) में प्रवाहित सिंध नदी भी अपनी रौद्र रूप में थी। आपको बता दें नदी के पानी में लगातार वृद्धि होने से नदी कल तक खतरे के निशान से भी ऊपर बह रही थी। इसी बीच नए पुल के दरार होने की अफवाह के चलते ग्वालियर झांसी मार्ग (Gwalior Jhansi Marg) पर बने पुल पर आवागमन को पूर्णतः बंद कर दिया गया था।

इसी को लेकर एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ के संपादक गौरव शर्मा (MPBreaking News editor Gaurav Sharma)  ने आज डबरा सिंध नदी पुल की स्थिति पर भारतीय नेशनल हाईवे के उप महाप्रबंधक संजय वर्मा (sanjay verma) से खुलकर बात की। भारतीय नेशनल हाईवे के उप महाप्रबंधक संजय वर्मा ने बताया कि डबरा सिंध नदी पुल में आई दरार की बात पूर्णतः असत्य हैं। पुल में किसी भी तरह की दरार नहीं आई है बल्कि जिस दरार की बात को लेकर अफवाह फैलाई जा रही है वह ब्रिज की एप्रोच रोड में आई है।

Read More: ग्वालियर चंबल बाढ़ : Koo ऐप पर सीएम शिवराज द्वारा दी जा रही पूरी जानकारी

साथ ही उपमहाप्रबंधक संजय वर्मा ने कहा कि पानी के तेज वेग और चारों तरफ से भरे होने के कारण सड़क मार्ग को जोड़ने वाली अप्रोच में थोड़ी दिक्कत आई थी और ब्रिज पूरी तरह से सुरक्षित है। पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए संजय वर्मा ने कहा कि पुराने सिंध पुल के अप्रोच को काटकर सिंध नदी पुल को दुरुस्त किया गया है। जिससे आवागमन की स्थिति को फिर से यथावत किया जा सके।

उपमहाप्रबंधक वर्मा ने कहा कि अप्रोच सही होने की वजह से पुराने पुल पर आवागमन व्यवस्था शुरू कर दी गई है जबकि नए पुल में आवागमन व्यवस्था दुरुस्त होने में थोड़ा समय लग सकता है। भारतीय नेशनल हाईवे द्वारा उसकी मरम्मत का कार्य शुरू कर दिया गया है। 6 से 7 दिनों के अंदर पुल पर आवागमन शुरू किया जा सकेगा । साथ ही वर्मा ने यह भी बताया कि दिल्ली से इंजीनियर की एक टीम को बुलाया गया है जिन्होंने पुल की चेकिंग की है। उन्होंने कहा है कि पुराने पुल में आवागमन में अब कोई भी असुविधा नहीं है।

ज्ञात हो कि बीते दिनों बाढ़ की स्थिति के कारण सिंध नदी के जलस्तर में भारी वृद्धि देखने को मिली थी, वही सिंध नदी पूरे वेग से बह रही थी, जिस वजह से चर्चा थी कि कई पुल में दरारे आ गई है जिसके बाद प्रशासन द्वारा बुधवार को ग्वालियर झांसी मार्ग पर ट्रैफिक को रोक दिया गया था। पर अब पुराने पुल पर आवागमन शुरू कर दिया गया है और जल्द ही नए पुल को भी चालू कर दिया जाएगा।