लड़कियों के लिए खुलेंगे उच्च शिक्षा के द्वार, इस छात्रवृति योजना से मिलेंगे 36,200 रुपए, जाने डिटेल्स

UGC ने 36,200 रुपये प्रति वर्ष की छात्रवृत्ति वितरण की घोषणा की है, जो 3,000 बालिकाओं को दी जाएगी

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। लड़कियों को आसानी से उच्च शिक्षा प्राप्त (higher education) करने के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) द्वारा सिंगल गर्ल चाइल्ड (Single Girl Child) के लिए इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति (Scholarship) चलाई जाती है। इसका उद्देश्य छोटे परिवार के मानदंडों का पालन करने के मूल्य को पहचानना और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में एकल लड़कियों की शिक्षा का समर्थन करना है। इस छात्रवृत्ति योजना के लिए बिना भाई या जुड़वाँ पुत्रियाँ या ब्याही पुत्री आवेदन कर सकती हैं। इसमें 36,200 रुपये प्रति वर्ष दो साल के लिए दिए जाते हैं।

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने 36,200 रुपये प्रति वर्ष की छात्रवृत्ति के वितरण की घोषणा की है, जो 3,000 एकल बालिकाओं को दी जाएगी, जो मान्यता प्राप्त भारतीय कॉलेजों या संस्थानों में स्नातकोत्तर डिग्री हासिल कर रही हैं।

Read More: MP कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, आदेश संशोधित, मिलेगा लाभ

जानने योग्य बातें

  • यह छात्रवृत्ति ‘एकल’ छात्राओं की शिक्षा के लिए दी जा रही है।
  • सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए पोस्ट ग्रेजुएट इंदिरा गांधी स्कॉलरशिप की स्थापना बालिका शिक्षा की
  • प्रत्यक्ष लागत की भरपाई करने के उद्देश्य से की गई थी।
  • कुल 3,000 छात्रवृत्तियां वितरित की जाएंगी।
  • चयनित विद्वान को विश्वविद्यालय, संस्थान या कॉलेज द्वारा प्रमाणित पाठ्यक्रम में शामिल होने की तिथि से छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।
  • चयन के बाद, पुरस्कार विजेताओं को वार्षिक आधार पर डीबीटी (प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण) मोड पर छात्रवृत्ति राशि का भुगतान किया जाएगा।
  • छात्रावास शुल्क और चिकित्सा शुल्क के एवज में कोई अन्य अतिरिक्त अनुदान देय नहीं होगा।
  • छात्रवृत्ति के लिए दो साल की अवधि के लिए 36,200 रुपये की राशि का भुगतान किया जाएगा।
  • जो छात्रा अगले स्तर पर पदोन्नत होने में विफल रहती हैं, उनकी छात्रवृत्ति स्वतः ही समाप्त हो जाएगी।
  • एक बार एक विषय/पाठ्यक्रम का चयन कर लेने के बाद उसमें परिवर्तन की कोई गुंजाइश नहीं होगी।
  • ऐसा करने से छात्रा को छात्रवृत्ति के लाभ से भी वंचित होना पड़ेगा।
  • योग्य छात्राएं को 30 नवंबर 2021 को या उससे पहले छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करना आवश्यक है।

छात्रवृत्ति के लिए पात्रता

  • इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति योजना के तहत आवेदक इकलौती बेटी होनी चाहिए।
  • जुड़वां बच्चे छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • अगर परिवार में एक बेटा और एक बेटी है तो बेटी को इस छात्रवृत्ति के लिए पात्र नहीं माना जाएगा।
  • इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति योजना के तहत केवल पीजी कोर्स करने वाली अकेली लड़कियां ही आवेदन कर सकती हैं।
  • आवेदन के समय आवेदक की आयु 30 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • दूरस्थ शिक्षा के तहत पढ़ने वाली लड़कियां इस छात्रवृत्ति के लिए आवेदन नहीं कर सकती हैं।

कहां आवेदन करें

लड़कियां इस योजना के लिए https://scholarships.gov.in/ पर जाकर आवेदन कर सकती हैं। इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 30 नवंबर 2021 है। इसके बाद किसी का भी फॉर्म स्वीकार नहीं किया जाएगा।

कैसे करे आवेदन

  • इच्छुक और योग्य उम्मीदवारों को पहले राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) के साथ पंजीकरण करना होगा।
  • वो संस्थान जहां छात्रा शिक्षा ले रही है, उसे ऑनलाइन आवेदन को सत्यापित करना आवश्यक है।
  • छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने वाले छात्रों को एकल बालिका के संबंध में एक हलफनामा भी प्रस्तुत करना आवश्यक है।
  • राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल के माध्यम से नवीनीकरण की प्राप्ति पर अध्ययन के अगले वर्ष के लिए छात्रवृत्ति का नवीनीकरण किया जाएगा।

छात्रवृत्ति दो साल के लिए उपलब्ध है

इस स्कॉलरशिप के तहत लड़कियों को दो साल तक हर महीने 3000 रुपये दिए जाते हैं। छात्रवृत्ति के लिए लड़कियों का चयन मेरिट के आधार पर किया जाता है।