क्या आप भी छोड़ना चाहते हैं Smoking ? जानिए कुछ आसान तरीके

आज 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) है, मतलब तंबाकू को ना कहने का दिन। लेकिन यह जितना कहना आसान होता है, करना उतना ही मुश्किल। ऐसे में कुछ आसान तरीके मददगार साबित हो सकते हैं, पढ़िए पूरी रिपोर्ट....

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। न जाने कितनी बार आप खुद से और अपनों से धूम्रपान (Smoking) छोड़ने का वादा कर चुके हैं। लेकिन कुछ ही समय के बाद आप उस वादे को भूल जाते हैं। अधिकतर लोग स्मोकिंग छोड़ने के इरादे में अकसर नाकाम होते हैं, वो इसलिए क्योंकि हम मानसिक और शारीरिक रूप से पूरी तरह तैयार नहीं होते हैं।

यह भी पढ़ें:-आज है World No Tobacco Day, सीएम शिवराज ने ट्वीट कर ये प्रतिज्ञा लेने को कहा

वहीं आजकल लोगों का सामाजिक रूप से स्मोकिंग कम हो गया है। अधिकांश कार्यस्थलों, शॉपिंग मॉल, थिएटर और स्टोर्स पर धूम्रपान करना बंद कर दिया गया है। लेकिन अभी भी यह बहुत बुरी आदत समाज में जारी है। चिंताजनक बात यह है कि अधिकतर लोग टीनेज में धूम्रपान करना शुरू कर देते हैं। समय के साथ इसके आदी हो जाते हैं। एक समय ऐसा आता है जब इस बुरी आदत को छोड़ना चाहते हैं लेकिन ऐसा कर नहीं पाते।
अगर आप भी स्मोकिंग छोड़ना चाहते हैं, लेकिन लाख जतनों के बाद भी ऐसा कर नहीं पा रहे हैं तो आपको बताते हैं कुछ उपाय, जो शायद आपके काम आ सकें।

तय करें तारीख

एक बार जब आप धूम्रपान छोड़ने का निर्णय ले लेते हैं तो स्टार्ट डेट को तय करना आवश्यक है। एक बार एक तारीख को तय करने के बाद, अपने लक्ष्य की ओर काम करना शुरू कर दें।

एक्यूपंक्चर की लें मदद

एक्यूपंक्चर धूम्रपान छोड़ने वाले लोगों की मदद करता है। एक्यूपंक्चर चिकित्सकों ने एक अनूठी तकनीक का उपयोग किया है जहां कानों पर पांच एक्यूपंक्चर बिंदुओं के एक सेट में बारीक सुई डाली जाती है जिससे धूम्रपान से वापसी के लक्षणों को रोकने में सहायता मिलती है।

हर्बल सिगरेट का प्रयोग

आप उन हर्बल सिगरेटों की कोशिश भी कर सकते हैं जिनमें 0% निकोटीन है। ये जड़ी-बूटियों से बनी होती है जैसे टकसाल, दालचीनी, वेनिला, मुलेठी। वे पूरी तरह से निकोटीन मुक्त होते हैं। ये सभी बहुत सारे स्वाद में आते हैं।

लाल मिर्च के फायदे

लाल मिर्च भी रेस्पिरेटरी सिस्टम को तम्बाकू और रासायनिक उत्तेजनाओं के लिए धूम्रपान के प्रति असंवेदनशील बनाता है। इसके अलावा, इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण फेफड़ों की झिल्ली को स्थिर करते हैं।

वैलेरियन करेगा मदद

वैलेरियन एक फूल वाला पौधा है जो एक हर्बल शामक और चिंता को कम करने वाले सप्लीमेंट के रूप में काम करता है और लोगों को धूम्रपान छोड़ने में मदद करने में बहुत प्रभावी माना जाता है।

शहद का उपयोग

शहद में विटामिन, एंजाइम और प्रोटीन होते हैं, जो स्मोकिंग छोड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं। ऐसे में स्मोकिंग की आदत को आपसे दूर रखने में मददगार साबित होगा।

अश्वगंधा और शतावरी

आयुर्वेद में इन दोनों जड़ी-बूटियों का खूब इस्तेमाल किया जाता है। तंबाकू या धूम्रपान के नियमित सेवन से शरीर में निकोटीन जैसे विषैले यौगिकों का जमाव होता है, लेकिन अश्‍वगंधा और शतावरी जैसी जड़ी बूटियां शरीर से इन विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती हैं।

अजवायन से होगा फायदा

अगर आप अजवाइन को मुंह में रखते हैं तो ऐसे में आपको इसकी आदत धीरे-धीरे छूट जाएगी। ऐसे में जब भी आपको स्मोकिंग करने का मन करे तो आप अजवाइन को मुंह में रख ले और इसेक बीच को चबाएं आपको फायदा जल्द देखने को मिलेगा।