20 YouTube चैनलों और 2 वेबसाइट पर I&B मंत्रालय का बड़ा एक्शन, भारत विरोधी गतिविधियों में थे शामिल

Youtube Channel Block: I&B मंत्रालय ने कहा कि कथित भारत विरोधी दुष्प्रचार अभियान में नया पाकिस्तान समूह (एनपीजी) शामिल था।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारत के I&B मंत्रालय द्वारा यूट्यूब चैनल (Youtube Channel) पर बड़ी कार्रवाई की गई है। दरअसल सूचना और प्रसारण मंत्रालय (Ministry of Information and Broadcasting) का मानना है कि भारत विरोधी गतिविधियों को संचालित करने वाली कई Youtube Channel भारत में कार्यरत है। जो आगामी चुनाव में भारत के लिए परेशानी का सबब बन सकती है। इसके साथ ही भारत के कई संवेदनशील मामले की जानकारी बेहद ही गलत तरीके से पेश की जा रही है। जिसको देखते हुए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने यूट्यूब के 20 चैनल और 2 न्यूज़ चैनल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। इन 2 वेबसाइटों को ब्लॉक करने का आदेश दिया गया है। साथ ही 20 चैनलों को यूट्यूब से हटा दिया गया है।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने YouTube पर 20 चैनलों और एक पाकिस्तानी नेटवर्क द्वारा कथित रूप से भारत विरोधी प्रचार और फर्जी खबरें फैलाने के साथ खुफिया एजेंसियों की जानकारी पर काम कर रहे दो वेबसाइटों को ब्लॉक करने का आदेश दिया है। I&B मंत्रालय ने कहा कि कथित भारत विरोधी दुष्प्रचार अभियान में नया पाकिस्तान समूह (एनपीजी) शामिल था।

जिसके पास अपने स्वयं के YouTube चैनलों और अन्य स्टैंडअलोन चैनलों का एक नेटवर्क है। चैनलों का संयुक्त ग्राहक रिकॉर्ड 35 लाख से अधिक था, और उनके वीडियो को 55 करोड़ से अधिक बार देखा गया था। I&B मंत्रालय ने कहा कि नया पाकिस्तान समूह (NPG) के कुछ YouTube चैनल पाकिस्तानी समाचार चैनलों के एंकर द्वारा संचालित किए जा रहे थे।

Read More : UGC NET Phase 2 Exam 2021: द्वितीय चरण परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी, यहां करें डाउनलोड

मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि YouTube को निर्देशित 20 YouTube चैनलों और दो समाचार वेबसाइटों के लिए, दूरसंचार विभाग से अनुरोध किया गया कि वे इंटरनेट Service provider को समाचार चैनलों / पोर्टलों को ब्लॉक करने का निर्देश दें, इन साइट्स पर भारत विरोधी गतिविधि संचालित की जा रही थी।

मिनिस्ट्री के मुताबिक चैनल और वेबसाइट भारत से संबंधित विभिन्न संवेदनशील विषयों के बारे में फर्जी खबरें फैलाने वाले पाकिस्तान से संचालित एक दुष्प्रचार नेटवर्क से संबंधित हैं। चैनलों का इस्तेमाल कश्मीर, भारतीय सेना, अल्पसंख्यक समुदायों और राम मंदिर जैसे विषयों पर समन्वित तरीके से विभाजनकारी सामग्री पोस्ट करने के लिए किया जाता था।

YouTube चैनलों ने कृषि कानूनों के विरोध, CAA के विरोध और अल्पसंख्यकों को भारत सरकार के खिलाफ भड़काने जैसे मुद्दों पर सामग्री पोस्ट की थी। यह आशंका थी कि चैनलों का उपयोग आगामी चुनावों को कमजोर करने के लिए सामग्री पोस्ट करने के लिए किया जाएगा।

मंत्रालय ने भारत में सूचना स्थान को सुरक्षित करने के लिए काम किया है और सूचना प्रौद्योगिकीनियम, 2021 के नियम 16 ​​के तहत आपातकालीन शक्तियों का उपयोग किया है। सूत्रों ने कहा कि विचाराधीन सामग्री “ईशनिंदा” से लेकर भारत की सुरक्षा और संप्रभुता को स्पष्ट रूप से प्रभावित करती है और ऐसा प्रतीत होता है कि इसकी उत्पत्ति पाकिस्तान में हुई है और इसके पाकिस्तान आईएसआई से संबंध हो सकते हैं। Youtube Channels पर अधिकांश सामग्री संवेदनशील विषयों से संबंधित है। जो राष्ट्रीय सुरक्षा के दृष्टिकोण से और तथ्यात्मक रूप से गलत हैं।