IMD Alert : मुंबई में मानसून की एंट्री, दिल्ली सहित इन राज्यों में जल्द बदलेगा मौसम, 18 राज्य में भारी बारिश का अलर्ट, 8 में हीटवेव की चेतावनी

IMD मुंबई के अनुसार, अगले 3 दिनों में ठाणे, रायगढ़, पालघर, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग और मुंबई जिलों में अलग-अलग स्थानों पर 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के साथ गरज और मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना है।

IMD Alert

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में जल्दी मौसम में बदलाव (Weather IMD alert) देखने को मिलेगा। राजधानी दिल्ली सहित कई राज्य में बूंदाबांदी के आसार नजर आने वाले हैं। दरअसल एक बार फिर से बुधवार से मौसम में बदलाव होगा। जहां उत्तर भारत में बारिश देखने को मिलेगी। मानसून (Monsoon) मुंबई में एंट्री ले चुका है। जिससे मुंबई में बारिश (Mumbai rains) का सिलसिला शुरू हो गया है। जल्द ही मानसून के उड़ीसा में दस्तक की संभावना जताई गई है। इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड में बारिश का दौर शुरू होगा। पर्वतीय राज्य में बारिश का दौर शुरू होने से जनजीवन सामान्य बना रहेगा।

वहीं राजधानी दिल्ली में शुक्रवार से मौसम में बदलाव देखने को मिलेंगे। दरअसल शुक्रवार से एक तरफ जहां तापमान में तीन से चार फ़ीसदी की गिरावट देखी जाएगी। वहीं शुक्रवार को बारिश की संभावना भी जताई गई है। दिल्ली में शुक्रवार 17 जून से बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके अलावा मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में मौसम में लगातार बदलाव की स्थिति देखने को मिल रही है। पश्चिमी विक्षोभ (Western disturbance) का असर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में देखने को मिल रहा है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, अगले दो दिनों के दौरान पूरे पश्चिमी प्रायद्वीपीय तट पर भारी बारिश की संभावना है। अगले पांच दिनों तक, पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भीषण वर्षा जारी रहने की संभावना है।इस बीच, अगले दो दिनों के दौरान पूरे उत्तर-पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत में अलग-अलग इलाकों में हीटवेव की स्थिति जारी रहने की उम्मीद है। इसके बाद स्थितियां और कम होने की उम्मीद है।

Read More : 15 जून से इन तीन राशि वालों पर होगी ग्रहों के राजा सूर्य देव की कृपा, जाने क्या रहेगा विशेष

मानसून अपडेट

दक्षिण-पश्चिम मानसून आज मुंबई और मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों सहित अधिकांश कोंकण में चला गया है। मानसून का मौसम आधिकारिक तौर पर 11 जून से मुंबई में शुरू होता है। IMD मुंबई के अनुसार, अगले 3 दिनों में ठाणे, रायगढ़, पालघर, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग और मुंबई जिलों में अलग-अलग स्थानों पर 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के साथ गरज और मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना है।

हालांकि IMD ने दिन में हल्की गरज के साथ आंशिक रूप से बादल छाए रहने की संभावना जताई है, लेकिन दिल्ली में शनिवार को न्यूनतम तापमान औसत से दो डिग्री अधिक 29.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। स्काईमेट वेदर की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली, हरियाणा, उत्तर-पश्चिम राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में लू की स्थिति बन सकती है। IMD के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर और उत्तर पश्चिम भारत के अन्य क्षेत्रों में अधिकतम तापमान सप्ताहांत में कुछ डिग्री गिर सकता है, लेकिन 15 जून तक कोई खास राहत की उम्मीद नहीं है।

दिल्ली में अगले कुछ दिनों में हवा की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है 

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, हवा की गति और फैलाव में वृद्धि के कारण अगले कुछ दिनों में हवा की गुणवत्ता में सुधार होने की उम्मीद है। IMD ने कहा अगले चार से पांच दिनों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के ओडिशा पहुंचने की उम्मीद है, क्योंकि देश के कई हिस्सों में इसके आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं।

अगले चार से पांच दिनों में बंगाल की खाड़ी, पूरे उप हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, ओडिशा के कुछ हिस्सों, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार के अधिकांश हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं। राष्ट्रीय मौसम भविष्यवक्ता के अनुसार, इस अवधि के दौरान मॉनसून उत्तरी अरब सागर, गुजरात, मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ेगा। पछुआ हवाएं कमजोर हो गई हैं और राज्य में नमी की उपलब्धता है। प्री-मानसून बूंदाबादी गतिविधि शनिवार से शुरू हुई है।

राज्य के कई हिस्सों में शनिवार को दिन के तापमान में गिरावट देखी गई। दिन में नौ स्थानों पर 40 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक तापमान दर्ज किया गया और सुंदरगढ़ 42.5 डिग्री तापमान के साथ सबसे गर्म रहा। ट्विन सिटी भुवनेश्वर और कटक में शनिवार को बादल छाए रहे।  इस बीच, मौसम विभाग ने अगले चार दिनों में राज्य में कुछ स्थानों पर आंधी और बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है। रविवार को कोरापुट, मलकानगिरी, नबरंगपुर, रायगड़ा, नुआपाड़ा, कालाहांडी, कंधमाल, बलांगीर, क्योंझर और मयूरभंज जिलों में गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। राज्य में 2 से 8 जून के बीच 76 फीसदी कम बारिश हुई है।

हिमाचल उत्तराखंड सहित लेह लद्दाख में 15 जून के बाद से बारिश की संभावना जताई गई है। इसके अलावा असम मेघालय मणिपुर मिजोरम में भारी बारिश की संभावना जताई गई है जबकि गोवा मेघा चमक के साथ बारिश की शुरुआत हो चुकी है। मुंबई में मानसून की एंट्री के साथ ही मौसम ने करवट लेना शुरू कर दिया है। मुंबई में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हुआ है जबकि तमिलनाडु कर्नाटक केरल में भी मौसम विभाग में भारी बारिश की संभावना जताई है। जबकि बिहार और झारखंड में 15 जून के बाद बारिश का अलर्ट दिया गया है। पश्चिम बंगाल में भी गुरुवार से मौसम में बदलाव की स्थिति देखने को मिलेगी। इसके अलावा असम मेघालय मणिपुर मिजोरम में भारी बारिश की संभावना जताई गई है।