12वीं परीक्षा परिणाम को लेकर Supreme Court का राज्य सरकारों को महत्वपूर्ण आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि जिन राज ने अभी तक आंतरिक मूल्यांकन की कोई योजना तैयार नहीं की है। उनके पास 10 दिन का समय है।

Supreme-Court-of-India

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देश में कोरोना संकट के चलते राज्य सरकारों द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षा को रद्द (exam cancel) कर दिया गया है। वही बोर्ड परीक्षा के परिणाम (board exam result) अब तक घोषित नहीं किए गए। जिसके बाद इस मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने बड़ा फैसला सुनाया है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्य सरकार को आदेश जारी किया है।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश मुताबिक सभी राज्य शिक्षा बोर्ड को 31 जुलाई से पहले 12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित करने होंगे। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि जिन राज्य ने अभी तक आंतरिक मूल्यांकन की कोई योजना तैयार नहीं की है। उनके पास 10 दिन का समय है। 10 दिन के अंदर वह 12वीं की परीक्षा परिणाम को लेकर फार्मूला (formulae) तैयार कर ले। सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्य सरकार को आदेश दिया है कि 12वीं बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट समय से घोषित करें।

Read More: VIDEO VIRAL: फिल्मी स्टाइल में हुआ सरपंच का अपहरण, ये है पूरा मामला

बता दें कि इस मामले में शिवराज सरकार (shivraj government) को जल्द से जल्द 12वीं के लिए फार्मूला तैयार करना होगा। बीते दिनों की बैठक में परीक्षा परिणाम को लेकर फार्मूला पर चर्चा की गई। हालांकि मंत्री समूह की बैठक में संपूर्ण सहमति न बनने की वजह से फार्मूला पर कोई विचार नहीं किया जा सका।

वाणिज्य विषय (Commerce) ने परीक्षा परिणाम बनाने की स्थिति में रोड़ा डाल दिए हैं। हाई स्कूल परीक्षा परिणाम के आधार पर Higher सेकेंडरी का परीक्षा परिणाम तैयार किया जा रहा है लेकिन हाई स्कूल 10th में कॉमर्स विषय ना होने के कारण अब असमंजस की स्थिति हो गई है। कॉमर्स विषय ना होने की वजह से कॉमर्स के विद्यार्थियों को किस आधार पर अंक दिए जाएंगे। इसके फार्मूला तय करने कि मंत्री समूह को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। वही फार्मूला सीएम शिवराज को भेजा जाएगा। जिस पर वो आखिरी निर्णय लेंगे।