Indian Railways : ओमिक्रॉन खतरे के बीच यात्रियों के लिए नियम हुए सख्त, गाइडलाइन जारी

IRCTC : कार्यकारी निदेशक डॉ के श्रीधर ने कहा कि Indian Railway ने सभी जोनों और उत्पादन इकाइयों को एक आदेश जारी किया है।

indian railway irctc

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश भर के हवाई अड्डों ने ओमाइक्रोन खतरे के मद्देनजर हवाई यात्रियों के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं, वहीँ भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने नए संकट से निपटने के लिए ट्रेन यात्रियों (train passengers) के लिए दिशानिर्देशों को भी कड़ा कर दिया है। IRCTC रेलवे ने इसके प्रसार को रोकने के लिए पहले ही एहतियाती कदम उठाना शुरू कर दिया है।

रेलवे ने बुधवार को एक बयान में कहा कि वह PSA संयंत्रों की निगरानी कर रहा है, ऑक्सीजन सिलेंडर का पर्याप्त स्टॉक बनाए हुए है और पीपीई किट और परीक्षण सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित कर रहा है। रेलवे ने आईसीयू बेड तैयार रखने और हर रेलकर्मी को टीका लगाने जैसे कदम उठाने पर जोर दिया है। रेलवे बोर्ड के कार्यकारी निदेशक डॉ के श्रीधर ने कहा कि रेलवे ने सभी जोनों और उत्पादन इकाइयों को एक आदेश जारी किया है।

Read More : Transfer : कलेक्टर का एक्शन, नायब तहसीलदार को मिली नवीन पदस्थापना

रेलवे ने अधिसूचना में कहा कि 24 नवंबर 2021 को दक्षिण अफ्रीका से SARS CoV-2 वैरिएंट Omicron की सूचना मिली है, जो चिंता का विषय है। डॉ श्रीधर ने कहा कि उन्होंने यूनिट प्रमुखों और महाप्रबंधकों को पीएसए संयंत्रों से संबंधित सभी लंबित कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए कहा है और कहा है कि पीएसए संयंत्रों और वेंटिलेटर के उचित रखरखाव और कामकाज की निगरानी की जानी चाहिए.

रेलवे ने अधिसूचना में आगे कहा कि बफर स्टॉक को बनाए रखा जाएगा, जिसमें कोविड ​​​​-19 दवाओं और आवश्यक पीपीई किट और परीक्षण सामग्री की पर्याप्त आपूर्ति शामिल है। रेलवे ने कहा ICU और गैर-आईसीयू दोनों क्षमताओं में बाल चिकित्सा के साथ-साथ कोरोना बिस्तरों की पर्याप्त संख्या को बनाए रखा जाना चाहिए। डॉ. श्रीधर ने जानकारी देते हुए कहा कि रेलवे को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कल्याण कर्मचारियों, संघ के अधिकारियों सहित सभी रेलवे लाभार्थियों को फास्ट-ट्रैक टीकाकरण प्राप्त हो।