इंदौर: कलेक्टर की सख्त हिदायत के बाद भी नहीं माने व्यापारी, 22 को भेजा जेल, FIR दर्ज

बताया जा रहा है कि गिरफ्तार लोगों को अस्थाई जेल भेजने के बजाय सीधे केंद्रीय जेल भेजा गया है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर में कोरोना कर्फ्यू और वीकेंड लॉक डाउन का उल्लंघन करने वाले 22 लोगो पर कार्रवाई कर सीधे केंद्रीय जेल भेजा गया है। दरअसल, जिला कलेक्टर मनीष सिंह ने शनिवार को निरीक्षण के दौरान सिंधी कॉलोनी व्यावसायिक क्षेत्र में कई किराना दुकानों और सब्जी फल के ठेलों पर भीड़ भाड़ को देखकर नाराजगी व्यक्त की थी कल ही कलेक्टर ने सख्त हिदायत दी थी कि किसी भी हालत में यहां रविवार से दुकाने नहीं खुलने दी जाएंगी और सब्जी फल के ठेले भी लगने नहीं दिए जाएंगे।

कलेक्टर की सख्त हिदायत के बावजूद भी सिंधी कालोनी क्षेत्र के व्यापारी नहीं माने और रविवार सुबह भी बड़ी संख्या सब्जी फल के ठेले दिखाई दिए। जिसके बाद मौके पर पहुंचे पुलिस और नगर निगम के अमले ने सख्ती दिखाते हुए कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले 22 लोगों को धारा 151 और धारा 188 के तहत 22 फल व सब्जी विक्रेताओं को गिरफ्तार कर लिया।

Read More: Rare Notes: आपके पास भी हैं ऐसे 1 या 5 रुपए के नोट तो मिलेंगे इतने रुपए, जाने डिटेल्स

बताया जा रहा है कि गिरफ्तार लोगों को अस्थाई जेल भेजने के बजाय सीधे केंद्रीय जेल भेजा गया है। आज की गई कार्रवाई से ये साफ हो गया है कि अब नियमो का पालन न करने वालो पर प्रशासन ज्यादा सख्ती करेगा और उन पर सीधे बड़ी कार्रवाई की जाएगी।