BWF World Championships 2021: हारकर भी रचा इतिहास, सिल्वर जीतने वाले पहले भारतीय बने किदांबी श्रीकांत

BWF World Championships 2021 : श्रीकांत ने पहला गेम बड़े अंतर से गंवा दिया, लेकिन दूसरे गेम में श्रीकांत ने शानदार वापसी की।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट शीर्ष शटलर किदांबी श्रीकांत (kidambi srikanth) रविवार को बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप (BWF World Championships 2021) के पुरुष एकल फाइनल में सिंगापुर के लोह कीन यू से कड़े मुकाबले में हार गए। इसी के साथ किदाम्बी श्रीकांत के वर्ल्ड चैंपियन बनने का सपना टूट गया है लेकिन हारने के बाद भी किदाम्बी ने बड़ा इतिहास रच दिया है। हारने के बावजूद, श्रीकांत ने एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है। वह विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले भारत के पहले पुरुष शटलर बने है। किदांबी श्रीकांत BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर (Silver) जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने। वह सिंगापुर के लोह कीन यू से 15-21, 20-22 से हार गए।

Read More : विवेक तन्खा ने सीएम शिवराज सहित 3 को भेजा 10 करोड़ की मानहानि का नोटिस, ये है कारण

दो फाइनलिस्टों के बीच यह एक कठिन मुकाबला था, लेकिन लोह कीन ने अपना पहला विश्व चैंपियनशिप खिताब जीतने के लिए सीधे सेटों में Srikanth से 21-15, 22-20 के अंतर से बेहतर बढ़त बनाने में कामयाबी हासिल की। श्रीकांत ने पहला गेम बड़े अंतर से गंवा दिया, लेकिन दूसरे गेम में श्रीकांत ने शानदार वापसी की। दूसरे गेम में उन्होंने 9-3 से छह अंकों की बढ़त हासिल की। इससे पहले लोह कीन ने उन्हें 22-20 से हराने में कामयाबी हासिल की।

श्रीकांत पहले सेट में हाफ टाइम तक 11-7 से आगे चल रहे थे। हालांकि कीन यू ने जल्द ही अपने जीत और ट्रॉफी पर मुहर लगा दी और वापस की। दरअसल, एक समय श्रीकांत 9-3 से आगे चल रहे थे जिसके बाद सिंगापुर के शटलर ने वापसी की।

दूसरा सेट पहले की तुलना में अधिक प्रतिस्पर्धी था। श्रीकांत ने शुरुआत में 7-4 की बढ़त लेने के बाद अपने प्रतिद्वंद्वी को वापसी करने दिया। ऐसा नहीं लग रहा था कि कोई भी खिलाड़ी एक-दूसरे पर हावी था क्योंकि स्कोर-लाइन 20-20 थी। हालाँकि, कीन यू द्वारा जीत पर मुहर लगाने के लिए बैक-टू-बैक पॉइंट्स लेने के बाद श्रीकांत को काफी पीछे छोड़ दिया। इस बीच, कीन यू ने इतिहास रचा और वह BWF विश्व चैम्पियनशिप खिताब जीतने वाले पहले सिंगापुरी बन गए।

24 साल के लोह कीन यू ने बिना ज्यादा पसीना बहाए श्रीकांत को पीछे छोड़ दिया। पिछले दो महीनों में कीन यू ओलंपिक चैंपियन विक्टर एक्सेलसेन सहित शीर्ष 10 खिलाड़ियों में से छह को हराकर रैंकिंग में उछाल हासिल की है। उन्होंने अक्टूबर में डच ओपन जीता और इसके बाद जर्मनी में हायलो ओपन जीता। विश्व चैंपियनशिप का खिताब उनके करियर की अब तक की सबसे बड़ी उपलब्धि है।