Balaghat : लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई, 25 हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ाया पटवारी

Bribe: पटवारी राहुल मेश्राम द्वारा दलालों के माध्यम से लगभग डेढ़ लाख रूपये ले लिये गये है, उसके बावजूद वह 60 हजार रूपये का डिमांड कर रहा था।

बालाघाट, सुनील कोरे। जिले में भ्रष्टाचारियों (corrupt) और रिश्वखोरों (bribery) की कमी नहीं है, खासकर राजस्व विभाग में रिश्वतखोरी की बात लगातार सामने आती रहती है। जिसका परिणाम है कि एक के बाद एक पटवारी रिश्वत (bribe) लेते पकड़ा रहे है। जहां विगत महिनों में तहसील कार्यालय में जबलपुर निवासी से पटवारी (patwari) शैलेन्द्र हरिनखेड़े को लोकायुक्त पुलिस ने 10 हजार रूपये की रिश्वत के साथ रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। वहीं 30 अक्टूबर को एक बार फिर लोकायुक्त पुलिस (lokayukt police) ने खुरसोड़ी हल्का पटवारी राहुल मेश्राम को कोटवार नोकेलाल मेश्राम के माध्यम से 25 हजार रूपये की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया है।

शिकायतकर्ता शैलेष बांगड़े की मानें तो वह कटंगी न्यायालय में न्यायालयीन कार्य करता है, चूंकि माता-पिता की मौत हो जाने पर पुश्तैनी पिंडरई और खुरसोड़ी स्थित जमीन पर वारसानों का नाम चढ़ाने, फौती और नामांतरण का प्रकरण मेरे द्वारा पेश किया गया था। जिसमें पटवारी राहुल मेश्राम द्वारा दलालों के माध्यम से लगभग डेढ़ लाख रूपये ले लिये गये है, उसके बावजूद वह 60 हजार रूपये का डिमांड कर रहा था। जिसमें मान-मनौव्वल के बाद पटवारी राहुल मेश्राम पुश्तैनी जमीन के फौती और नामांतरण के लिए 50 हजार रूपये देने की बात पर माना। जिसने आज उसे खुरसोड़ी पंचायत बुलवाया था। जहां उसने मेरे हाथ से 25 हजार रूपये कोटवार को दिलवाये और उसके बाद कागजों पर मेरे दस्तखत लिये।

शिकायतकर्ता शैलेष बांगड़े के पंचायत से बाहर आने के बाद ट्रेप कार्यवाही के लिए पहुंची लोकायुक्त पुलिस ने दबिश देकर पटवारी राहुल मेश्राम और कोटवार नोकलाल मेश्राम को रंगेहाथ रिश्वत की रकम मंे दिये गये 2-2 हजार के नोटो के साथ दिये गये 25 हजार रूपये बरामद किये। जिसके बाद लोकायुक्त पुलिस दोनो ही आरोपियों को पकड़कर बालाघाट रेस्ट हाउस लेकर पहुंची। जहां इस मामले में लोकायुक्त दल प्रभारी निरीक्षक ऑस्कर किंडो, निरीक्षक कमलसिंह उईके द्वारा अग्रिम कार्यवाही करते हुए आरोपी पटवारी 40 वर्षीय राहुल पिता हिबराज मेश्राम और सहआरोपी 34 वर्षीय नोकलाल पिता स्व. केसलाल मेश्राम के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया है।

Balaghat : लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई, 25 हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ाया पटवारी

Read More: PUBG New State: जाने भारत में रिलीज की तारीख, File Size, Price और नए अपडेट

इस मामले में लोकायुक्त निरीक्षक कमलसिंह मर्सकोले ने बताया कि कटंगी निवासी शैलेष बांगड़े ने 10 अक्टूबर को लोकायुक्त में शिकायत की थी कि पटवारी राहुल मेश्राम, उसकी पुश्तैनी जमीन पर फौती, नामांतरण और बंटवारा करवाने के नाम पर 60 हजार रूपये की मांग कर रहा है। जिसके आधार पर फोन टेप कर आज 30 अक्टूबर को लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक संजय कुमार और डीएसपी श्रीनाथ झरवड़े के निर्देश पर लोकायुक्त दल प्रभारी ऑस्कर किंडो के साथ खुरसोड़ी पंचायत में रिश्वत लेने के मामले में पटवारी राहुल मेश्राम और सहआरोपी बनाये गये नोकेलाल को गिरफ्तार किया गया है।

जिनके खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। इस कार्यवाही में निरीक्षकों के साथ ही आरक्षक जुबेद खानख् सोनू चौकसे, गोविंदसिंह राजपूत, विजय सिंह बिष्ट एवं चालक सुरेंद्र सिंह का सराहनीय सहयोग रहा। रिश्वत मामले में पकड़ाये गये दोनो ही आरोपी पटवारी शैलेन्द्र हरिनखेड़े और राहुल मेश्राम को लेकर एक अजब संयोग यह है कि यह दोनो ही पटवारी तहसील कार्यालय बालाघाट में पदस्थ है। जिससे कई सवाल खड़े हो रहे है। आखिर पटवारी स्वयं के लिए रिश्वत ले रहा था या फिर उनके रिश्वतकांड के पीछे और कोई है।

Balaghat : लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई, 25 हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ाया पटवारी

पूर्व में पटवारी पर हो चुकी है निलंबन की कार्रवाई

अप्रैल माह में राष्ट्रीय राजमार्ग फोरलेन सर्वे कार्य में लापरवाही और अनुशासनहीनता के चलते खुरसोड़ी के पटवारी हल्का नंबर 10 के पटवारी राहुल मेश्राम को एसडीएम ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। पटवारी राहुल मेश्राम द्वारा कार्यो में लापरवाही को लेकर लगातार शिकायत मिल रही थी। जिसे गंभीरता से लेते हुए एसडीएम बालाघाट के.सी. बोपचे द्वारा पटवारी राहुल मेश्राम को निलंबित कर दिया था।