Mission 2023: BJP की इस बिसात पर क्या होगी कमलनाथ -दिग्विजय की तैयारी!

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में BJP 2023 के चुनाव Mode में आ गई है। दरअसल बीजेपी ने कांग्रेस के दो वरिष्ठ कमलनाथ (kamalnath) और दिग्विजय सिंह (digvijay singh) की घेराबंदी करने का प्लान B (plan B) तैयार कर लिया है। इसके लिए BJP कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiradiya scindia) के रूप में बिसात बिछाएगी। दरअसल केंद्रीय मंत्री Scindia, दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के गढ़ में हुंकार भरेंगे।

दरअसल 18 अगस्त को ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा, गुना (guna) और राजगढ़ दौरे पर रहेंगे। अगस्त (August) में होने वाला यह दौरा तीन दिवसीय होगा। इसमें Scindia 16 अगस्त को गुना, 17 को राजगढ़ और 18 को छिंदवाड़ा जाएंगे। इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया जहां पार्टी के कार्यक्रमों में शामिल होंगे। वही कार्यकर्ताओं को भी संबोधित करेंगे। बीजेपी ने मध्यप्रदेश में 2023 के होने वाले चुनाव के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है।  इस दौरे से पहले सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है। ज्ञात हो कि 18 अगस्त को ज्योतिरादित्य सिंधिया का छिंदवाड़ा जाना है। छिन्दवाड़ा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का गढ़ है और यही से उनके बेटे नकुलनाथ (nakulnath)  कांग्रेस सांसद है।

Read More: MP के कर्मचारियों में रोष व्याप्त, CM के नाम सौंपा ज्ञापन, पदोन्नति को लेकर की ये विशेष मांग

मोदी कैबिनेट में नागरिक उड्डयन मंत्री बनने के बाद यह पहला मौका होगा, जब ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) आ रहे है। इस दौरे को आगामी चुनावों और kamalnath के किले को भेदने रूप में देखा जा रहा है। बता दें कि कांग्रेस में रहते हुए सिंधिया ग्वालियर चंबल (gwalior chambal) के अलावा मालवा तक ही रहे जबकि Rajgarh, Digvijay singh और छिंदवाड़ा और महाकौशल में कमलनाथ हावी हुआ करते थे।

13 साल के बाद अचानक से छिंदवाड़ा का रुख करना Scindia के साथ साथ बीजेपी और कांग्रेस के लिए भी बड़ी चुनौती साबित होने वाला है।हालांकि सिंधिया के दौरे पर पूर्व मंत्री प्रियव्रत सिंह ने भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि सिंधिया 2019 में लोकसभा चुनाव हार गए थे। छिंदवाड़ा में नकुल नाथ (nakulnath) ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव में जीत हासिल की थी ऐसे में जीते हुए सांसद के खिलाफ cindia को उतारने से बीजेपी को नुकसान ही होना है।

जबकि प्रदेश सरकार में मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव का कहना है कि कांग्रेस में गुटबाजी है कमलनाथ दिग्विजय सहित कई गुट है जो कांग्रेस में कार्य कर रहे हैं जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया सिर्फ ग्वालियर चंबल नहीं पूरे प्रदेश और देश के नेता है। ऐसे में छिंदवाड़ा और राजगढ़ में उनकी उपस्थिति बीजेपी के लिए फायदेमंद साबित होगी।