MP News: अब घर बैठे बनवा सकेंगे Learning License, आज से शुरू हुई नई व्यवस्था

driving_license

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh)  में अब learning License , Driving license बनवाने के लिए RTO के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। पूरे प्रदेश के साथ इंदौर (indore) में नई व्यवस्था को लागू किया जा रहा है। जिससे लोग घर बैठे ही लर्निंग लाइसेंस बनवा सकेंगे। इस मामले में RTO जितेंद्र सिंह रघुवंशी ने कहा कि परिवहन विभाग ने इस साल की शुरुआत में दूसरे राज्यों की तरह पहल करते हुए ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस बनाने की कवायद शुरू की थी। इसके लिए तैयारी की जा रही थी। ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस की व्यवस्था को मार्च महीने में ही पूरे प्रदेश में लागू किया जाना था लेकिन Lockdown लगने की वजह से कार्य समय पर पूरा नहीं हो सका।

मामले में RTO जितेंद्र सिंह रघुवंशी का कहना है कि ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस (learning License) को सतना और खरगोन में ट्रायल के तौर पर इसे लागू किया गया था। संभागीय परिवहन आयुक्त सपना जैन के मुताबिक ट्रायल में सॉफ्टवेयर से जुड़ी कई समस्याएं सामने आई। जिसे हल कर लिया गया, अब पूरे प्रदेश में इस व्यवस्था को लागू किया जा रहा है। अधिकारियों की माने तो 1 सितंबर से डुप्लीकेट और रिनुअल लाइसेंस के लिए इस व्यवस्था को लागू किया जाएगा। इसके साथ ही लाइसेंस में नाम ट्रांसफर करने के लिए भी इसी व्यवस्था का इस्तेमाल किया जाएगा।

Read More: Datia: स्वादिष्ट चटनी बनी वजह, सिरफिरे पति ने पत्नी को उतारा मौत के घाट

अगस्त महीने में जिन लोगों ने RTO के लिए अपॉइंटमेंट ले रखा है। उन्हें लाइसेंस बनवाने के लिए RTO आना पड़ेगा जबकि 1 अगस्त रविवार से अब लर्निंग लाइसेंस (learning License) के आवेदन ऑनलाइन ही लिए जाएंगे। माना जा रहा है की भीड़ से निजात पाने के लिए और कार्य में तेजी लाने के लिए लर्निंग लाइसेंस की कार्य विधि को ऑनलाइन किया गया है।

कैसे करें आवेदन

  • वहीं आवेदक को वेबसाइट पर आवेदन करना होगा
  • अगर आवेदक आधार कार्ड से लाइसेंस बनाना चाहते हैं तो आपको नंबर से रजिस्टर करना पड़ेगा।
  • नंबर रजिस्टर्ड होते ही आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा।
  • OTP डालते आवेदक की पूरी जानकारी परिवहन वेबसाइट पर ऑटोमेटिक फिल हो जाएगी।
  • जानकारी कंफर्म करते ही भुगतान का विकल्प आपके सामने मौजूद होगा।
  • भुगतान करते ही आवेदक परीक्षा प्रक्रिया में शामिल होंगे।
  • वहीं 10 में से छह सवालों के सही जवाब देने पर आवेदक को पास माना जाएगा।