MP School: RTE एडमिशन के लिए मंत्री इंदर सिंह परमार ने खोली लॉटरी, 28 हजार बच्चों के फॉर्म रिजेक्ट

इसलिए स्कूल द्वारा दिए गए ऐप पर दोपहर 12:00 बजे तक सभी बच्चों को मैसेज के माध्यम से सूचना भेजी जाएगी।

MP school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट  मध्यप्रदेश में MP School RTE के तहत प्राइवेट स्कूल (private school) में गरीब बच्चों के एडमिशन (admission) की प्रक्रिया (process) में आज लॉटरी (lottery) खोली गई। सुबह 9:00 बजे स्कूल शिक्षा और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार (inder singh parmar) ने NIC के Server का बटन दबाकर आरटीई के तहत प्राइवेट स्कूल में निशुल्क एडमिशन के लिए लॉटरी प्रक्रिया का शुभारंभ किया।

इस साल प्रदेश भर में 1 लाख 99 हजार 771 बच्चों ने MP School प्राइवेट स्कूल में निशुल्क प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन किए थे। बता दें कि RTE के तहत प्राइवेट स्कूल में गरीब बच्चों को एडमिशन दिया जाता है। जिसमें वंचित समूह और कमजोर वर्ग के बच्चों के लिए 25% सीट पर निशुल्क प्रवेश का प्रावधान है। इस प्रावधान के तहत 20-21 के लिए प्रदेश में निजी विद्यालय की प्रथम कक्षा में प्रवेश के लिए ऑनलाइन लॉटरी निकाली गई।

Read More: खूब लड़ी मर्दानी! रेत के खेल मे खेत रही Lady Singham महिला अधिकारी

वही दस्तावेज सत्यापन के बाद RTE के तहत प्राइवेट स्कूल में होने वाले एडमिशन के लिए 28000 बच्चों के फॉर्म रिजेक्ट कर दिए गए हैं। इसके अलावा इस साल मध्यप्रदेश में निशुल्क प्रवेश के लिए 1 लाख 72 हजार 440 बच्चों को स्कूल में प्रवेश दिया जाएगा।

हालांकि निशुल्क प्रवेश के लिए लॉटरी प्रक्रिया का शुभारंभ करने के साथ ही कार्यक्रम के दौरान तकनीकी समस्या के कारण कई लोगों को परेशानी हुई है। वही ऑनलाइन कार्यक्रम के दौरान तकनीकी समस्या पर एक स्कूल संचालक ने लिखा कि RTE पोर्टल पर प्राइवेट स्कूलों का पासवर्ड रिसेट नहीं हो रहा है। पासवर्ड रिसेट नहीं होने से बच्चों को स्कूल में प्रवेश नहीं दिया जा सकेगा। यह पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है। इसलिए स्कूल द्वारा दिए गए ऐप पर दोपहर 12:00 बजे तक सभी बच्चों को मैसेज के माध्यम से सूचना भेजी जाएगी।