राशन कार्ड धारकों के लिए आई नई अपडेट, इन हितग्राहियों को मिलेगा फ्री राशन का लाभ, ऐसे करें अप्लाई

इतना ही नहीं खाद आयुक्त ने कहा है कि राशन कार्ड वेरीफिकेशन सामान्य प्रक्रिया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। राशन कार्ड धारकों (ration card holders) के लिए बड़ी खबर है। फ्री राशन (free ration) लेने वालों के लिए भी हर खबर बेहद आवश्यक है। कई दिनों से मीडिया रिपोर्ट (media report) में दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में अपात्र राशन कार्ड धारकों के राशन कार्ड सेरेंडर (ration card surrender) करवाए जा रहे हैं। इतना ही नहीं राशन कार्ड सेरेंडर नहीं करने वालों के खिलाफ सरकार वसूली और कानूनी कार्रवाई भी कर सकती है।

इस खबर के बाद कहीं अपात्रों द्वारा तेजी से राशन कार्ड सेरेंडर करने की कवायद शुरू हो गई है। हालांकि अब उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस पर अपडेट दिया गया है। प्रदेश सरकार ने पूरी तरह से स्थिति को स्पष्ट करते हुए कहा है कि राशन कार्ड को सेंड करने का कोई भी आदेश जारी नहीं किया गया है। इस मामले में राज्य के खाद्य आयुक्त ने कहा कि राज्य शासन द्वारा राशन कार्ड को सरेंडर करने के किसी भी तरह के आदेश को जारी नहीं किया गया है। हालांकि यह देश कहां से जारी हुआ इसका पता लगाया जा रहा है। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इतना ही नहीं खाद आयुक्त ने कहा है कि राशन कार्ड वेरीफिकेशन सामान्य प्रक्रिया है। समय-समय पर इस प्रक्रिया के तहत घरेलू राशन कार्ड की पात्रता और पात्रता मानदंड की जांच की जाती है। हालांकि इसके लिए 2014 के नियम में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। राशन कार्ड धारकों को पक्का घर होने के अलावा बिजली कनेक्शन और एकमात्र हथियार लाइसेंस के मोटरसाइकिल मालिक होने आधार पर अपात्र घोषित नहीं किया जाएगा। इसके अलावा किसी भी तरह के आदेश नहीं दिए गए हैं।

Read More : कर्मचारी-पेंशनर्स के लिए बड़ी खबर, पुरानी पेंशन योजना पर अपडेट, विभाग ने जारी किया आदेश, इन्हें मिलेगा लाभ

झारखण्ड राज्य की जन वितरण प्रणाली की दुकानों पर अब कॉमन सर्विस सेंटर के रूप में कार्य शैली अपनाई जाएगी। जिसमें लोगों को बिल पेमेंट, PAN, पासपोर्ट के लिए आवेदन सहित वोटर आईडी कार्ड से जुड़ी सर्विस, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना सहित आयुष्यमान भारत योजना की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अलावा राशन कार्ड की आटोमेटिक शिफ्टिंग की सुविधा भी शुरू की गई है। जिसके तहत राशन कार्ड ऑटोमेटिक स्क्रीन की ऑनलाइन प्रक्रिया को अपनाया गया है। इसमें 8533 हरे राशन कार्ड के लाभुकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम में शिफ्ट किया जाएगा।

वहीं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को मुफ्त राशन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। सितंबर 2022 तक की योजना जारी रहेगी। इस योजना के तहत 80 करोड लोगों को मुफ्त राशन की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। जिसमें 5 किलो गेहूं के अलावा 5 किलो चावल भी हितग्राहियों को मिल रहे हैं। हालांकि इसके लिए राशन कार्ड का होना बेहद आवश्यक है।

इतना ही नहीं जिन नागरिकों के पास राशन कार्ड नहीं है। वह आसानी से इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। राशन कार्ड के लिए अप्लाई करने पर आपकी उम्र 18 साल होनी आवश्यक है। इसके अलावा को भारत का नागरिक होना आवश्यक है। 18 साल से कम उम्र के लिए माता-पिता के राशन कार्ड में ही हितग्राहियों को शामिल किया जाता है। वही आईडी प्रूफ के तौर पर आधार कार्ड के अलावा पासपोर्ट साइज फोटो, आय प्रमाण पत्र सहित पासबुक और का सर्टिफिकेट जैसे दस्तावेज की आवश्यकता होती है।

राशन कार्ड बनवाने के लिए ₹5 से ₹45 की फीस लगती आवेदन भरने के बाद आपको फीस जमा करनी होगी। जिसके बाद आप राशन कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आप जिस राज्य के निवासी हैं। उस राज्य के पोर्टल पर जा कर राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।