जहरीली शराब से मौत पर सख्त गृहमंत्री नरोत्तम, बोले- जल्द लायेंगे कठोर कानून

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में जहरीली शराब (poisonous alcohol) से मौत का कहर जारी है। मंदसौर (mandsaur) में छह लोगों की मौत के बाद खरगोन (khargone) में जहरीली शराब पीने से 2 लोगों की मौत हो गई है। वहीं तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। इंदौर में भी पुलिस ने जहरीली शराब से युवकों की मौत की पुष्टि की है। जिस पर अब प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) का बड़ा बयान सामने आया हैं।

अवैध शराब पर लगाम लगाने के लिए कड़े कानून

प्रदेश में शराब माफिया पर बोलते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि आरोपियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। मंदसौर इंदौर में मामले सामने आते ही प्रशासन ने आरोपियों के ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया है। सरकार शराब कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए उत्तर प्रदेश (UP) की तर्ज पर मध्य प्रदेश (MP) में कठोर कानून बनाने जा रही है। जल्द ही मध्य प्रदेश में अवैध शराब पर लगाम लगाने के लिए कड़े कानून लाए जाएंगे।

बीते 24 घंटे में 10 Case सामने आए

वही देश में एक बार फिर से डेल्टा (delta) मामले केंद्र सरकार के लिए चिंता का विषय बन गए हैं। केरल में आज बड़ी संख्या में संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं मध्यप्रदेश में कोरोना (MP Corona) के हालातों की समीक्षा करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में आ रही है। बीते 24 घंटे में 10 Case सामने आए जबकि 18 लोग स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौटे हैं। संक्रमण की दर (positivity rate) घटकर 0.14% पहुंच गई है जबकि रिकवरी रेट (recovery rate) 99% के करीब है। प्रदेश में कोरोना के 70,000 से अधिक टेस्ट किए गए हैं जबकि प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 129 है।

Read More: Jabalpur News : हाई कोर्ट ने सेना के अधिकारियों को दिए ये आदेश

8 अगस्त को सर्वदलीय बैठक बुलाने पर चर्चा

वहीं विधानसभा के मानसून सत्र (monsoon session) पर बोलते हुए गृह मंत्री ने कहा कि विपक्ष को चर्चा करना चाहिए, हंगामा नहीं। विधानसभा के 9 अगस्त से होने वाले मानसून सत्र के लिए विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम (girish gautam) से उनके निवास पर चर्चा की गई है। 5 अगस्त को नए विधायकों का प्रबोधन कार्यक्रम किया जाएगा। वहीं 8 अगस्त को सर्वदलीय बैठक बुलाने पर चर्चा की गई है। हालांकि इस मामले में अंतिम निर्णय अध्यक्ष गिरीश गौतम लेंगे।

कांग्रेस और भूपेश बघेल पर निशाना

कांग्रेस और भूपेश बघेल पर निशाना साधते हुए गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस के अंदर की समस्या कांग्रेस के लोग भी अच्छी तरह जानते लेकिन बताते नहीं है। भूपेश बघेल अपने दामाद को obilized कर रहे हैं। यह कोई नई बात नहीं है। यह कांग्रेस की पुरानी और चलने वाली परंपरा रही है। कांग्रेस परिवार का पेट पहले भरती है, गरीबों का नहीं।

मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस झूठ पर आधारित पार्टी है। यही वजह है कि पंजाब राजस्थान और छत्तीसगढ़ में उसकी सरकार में अंतर्कलह मची हुई है। कांग्रेस हाईकमान अपना दखल बनाए रखने के लिए हर बात में पेंच फसा देती है। राजस्थान में सचिन पायलट, छत्तीसगढ़ में टीएस सिंह देव के साथ किया वादा कांग्रेस को निभाना चाहिए। कांग्रेस में केंद्रीय नेतृत्व ही राज्य में अंतर्कलह की जड़ है।

मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस का इतिहास उठाकर देख लीजिए। जुमलो की कतार मिलेगी। कांग्रेस में इंदिरा लाओ, गरीबी हटाओ का नारा खूब लगाया लेकिन देश में कांग्रेस के राज्य में एक बार भी गरीबी नहीं हटी, हां गरीब जरूर हटा दिए गए।कांग्रेस का जुमला आज भी जारी है और यह जारी रहेगी।