Suspend: लापरवाही पर गिरी गाज, CEO ने 2 पंचायत सचिवों को किया तत्काल प्रभाव से निलंबित

पंचायत सेवा आचरण 1998 का उल्लंघन करने के आरोप में और अपील नियम 1999 के तहत निलंबन की कार्रवाई की गई है।

ऊर्जा मंत्री

शहडोल, डेस्क रिपोर्ट। कार्य में लापरवाही पर जिला पंचायत (District Panchayat) के मुख्य कार्यपालन अधिकारी (chief executive officer) द्वारा ग्राम पंचायतों के सचिवों (panchayat secreatary) पर बड़ी कार्रवाई की गई है। इस ऑपरेशन में दो पंचायत सचिवों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। जानकारी की माने तो एक पंचायत सचिव ने अतिरिक्त ग्राम पंचायत का प्रभार लेने से इनकार कर दिया था जबकि दूसरे पंचायत सचिव द्वारा पूर्व सूचना के बावजूद समय पर ग्राम पंचायत के मुख्यालय में उपस्थिति दर्ज नहीं कराई गई थी। कार्य में इस लापरवाही पर अब CEO ने 2 ग्राम पंचायतों के सचिवों (panchayat secreatary) को सस्पेंड (suspend) कर दिया है।

दरअसल मामला शहडोल जिले का है। जहां मुख्य कार्यपालन अधिकारी शहडोल द्वारा सचिव शिव बिहारी सिंह (shiv bihari singh) को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। जानकारी की माने तो शहडोल के पंचायत सोहागपुर में शिव बिहारी सिंह को ग्राम पंचायत खन्नौड़ी का प्रभार सौंपा गया था। जहां शिव बिहारी सिंह द्वारा ग्राम पंचायत खन्नौड़ी के सचिव का अतिरिक्त प्रभार देने से मना कर दिया गया। वही शिव सिंह पर मध्यप्रदेश पंचायत सेवा 1998 का उल्लंघन के साथ मध्य प्रदेश पंचायत सेवा अनुशासन एवं अपील नियम 1999 के तहत निलंबित किया गया है।

Read More: सरकारी नौकरी : 10,000 से अधिक पदों पर निकली बंपर भर्ती, समय बीतने से पहले करें अप्लाई

वही सीईओ द्वारा शहडोल के सचिव राजेश सिंह (rajesh singh) ग्राम पंचायत खैरा निरीक्षण के दौरान निलंबित किया गया है। जानकारी की माने तो ग्राम पंचायत खैरा का निरीक्षण करने सीईओ जिला पंचायत पहुंचे थे। इस दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने पाया कि खैरा ग्राम पंचायत के सचिव राजेश सिंह पूर्व में दी गई सूचना के बावजूद भी ग्राम पंचायत में उपस्थित नहीं है।

जिसके बाद पंचायत सेवा आचरण 1998 का उल्लंघन करने के आरोप में और अपील नियम 1999 के तहत निलंबन की कार्रवाई की गई है। इसके साथ ही शहडोल सीईओ ने सभी ग्राम पंचायत सचिवों को कार्य के प्रति आश्वस्त और कर्तव्यनिष्ठ रहने की सलाह दी है। कार्यपालन अधिकारी का कहना है कि कार्य में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।