UGC की कई UG-PG स्कॉलरशिप स्कीम, योग्य छात्रों को मिलेगी उच्च शिक्षा में मदद

छात्रवृत्ति की अवधि किसी भी परिस्थिति में दो वर्ष से अधिक नहीं बढ़ाई जा सकेगी।

student-didnt-get-scholarship-due-to-negligence-of-education-department

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) और AICTE कॉलेज और विश्वविद्यालय (university) के छात्रों के लिए कई स्कोलरश्चिप प्रोग्राम आयोजित करता है, जसिकी जानकारी छात्रों को होनी जरुरी है। तभी छात्र इसका लाभ उठा सकेंगे।

यहाँ उच्च शिक्षा के लिए संचालित सभी तीन पोस्टग्रेजुएट स्कॉलरशिप (Postgraduate scholarship) की जानकारी हैं जबकि चौथा अंडरग्रेजुएट ग्रांट स्कीम है। पात्रता मानदंड और प्रदान की गई राशि सहित सभी छात्रवृत्ति का विवरण यहां दिया गया है। स्कॉलरशिप के लिए आवेदन नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर जमा किए जाने हैं।

सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए पीजी इंदिरा गांधी छात्रवृत्ति

पात्रता: यह योजना केवल एक एकल बालिका के लिए लागू है, जिसने किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या स्नातकोत्तर कॉलेज में एक नियमित, पूर्णकालिक प्रथम वर्ष के मास्टर डिग्री पाठ्यक्रम में प्रवेश लिया है। दूरस्थ शिक्षा मोड में PG पाठ्यक्रमों में प्रवेश योजना के अंतर्गत शामिल नहीं है। साथ ही अगर परिवार में एक बेटा और एक बेटी है तो बेटी इसके लिए पात्र नहीं है।

छात्रवृत्ति की संख्या: 1,200

छात्रवृत्ति राशि: 36,200 रुपये हर साल दो साल की अवधि के लिए

आयु सीमा: प्रवेश के समय 30 वर्ष।

इसके अलावा छात्राओं के उच्च शिक्षा के लिए AICTE प्रगति छात्रवृत्ति (तकनीकी डिग्री और डिप्लोमा), विशेष रूप से विकलांग छात्रों के लिए AICTE सक्षम छात्रवृत्ति (तकनीकी डिग्री और डिप्लोमा), और तकनीकी डिग्री और डिप्लोमा के लिए एआईसीटीई स्वानथ छात्रवृत्ति योजना भी उपलब्ध है।

वहीँ AICTE PG छात्रवृत्ति GATE, GPAT और CEED के योग्य विद्यार्थी के लिए है जो AICTE द्वारा अनुमोदित नियमित स्नातकोत्तर कार्यक्रमों में प्रवेश लेते हैं। चयनित उम्मीदवारों को 24 महीने या पाठ्यक्रम की अवधि के लिए प्रति माह 2,400 रुपये मिलेंगे।

ईशान उदय छात्रवृत्ति

पात्रता: यह यूजीसी द्वारा उच्च अध्ययन के लिए भारत के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र (NER) के छात्रों को समान अवसर प्रदान करने के लिए पेश की जाने वाली एक विशेष प्रथम वर्ष की स्नातक छात्रवृत्ति योजना है। मेडिकल और पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों सहित सामान्य डिग्री पाठ्यक्रमों, तकनीकी और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए हर साल छात्रवृत्ति की पेशकश की जाती है। इस योजना के तहत छात्रवृत्ति प्राप्त करने के लिए माता-पिता की वार्षिक आय 4.5 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

एकीकृत डिग्री पाठ्यक्रमों के लिए, छात्रवृत्ति पाठ्यक्रम की पूरी अवधि के लिए मान्य होगी लेकिन दोहरी डिग्री पाठ्यक्रमों के मामले में केवल पहली डिग्री के लिए लागू होगी।

छात्रवृत्ति की संख्या: 10,000

छात्रवृत्ति राशि: सामान्य डिग्री कार्यक्रमों के लिए 5,400 रुपये प्रति माह और तकनीकी, चिकित्सा, पेशेवर और पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों के लिए 7,800 रुपये प्रति माह।

विश्वविद्यालय रैंक धारकों के लिए छात्रवृत्ति

पात्रता: यह छात्रवृत्ति स्नातक स्तर पर “उत्कृष्ट प्रदर्शन” के साथ स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए है। हालांकि, इस योजना के तहत पेशेवर और दूरस्थ शिक्षा पाठ्यक्रम शामिल नहीं हैं। पहली और दूसरी रैंक धारक जिन्होंने किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय, डीम्ड विश्वविद्यालय, निजी विश्वविद्यालय, स्वायत्त कॉलेज या स्नातकोत्तर कॉलेज में नियमित, पूर्णकालिक मास्टर डिग्री पाठ्यक्रम में प्रवेश लिया है।

वे इस छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते हैं। यह योजना छात्र के लिए केवल प्रथम पीजी डिग्री के लिए उपलब्ध है। रैंक धारकों पर केवल उन विश्वविद्यालयों- कॉलेजों विचार किया जाएगा। जहां स्नातक स्तर पर कम से कम 1,000 छात्र सामान्य पाठ्यक्रमों में और 100 ऑनर्स पाठ्यक्रमों में परीक्षा में शामिल हुए हैं।

स्कॉलरशिप की संख्या: सामान्य कोर्स के लिए 1,800 और ऑनर्स कोर्स के लिए हर साल 575। छात्रवृत्ति की अवधि किसी भी परिस्थिति में दो वर्ष से अधिक नहीं बढ़ाई जा सकेगी।

छात्रवृत्ति राशि: दो साल के लिए प्रति माह 2,000 रुपये।

आयु सीमा: प्रवेश के समय 30 वर्ष।

स्नातकोत्तर अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति छात्रवृत्ति योजना

पात्रता: इस योजना का उद्देश्य समाज के वंचित वर्गों के छात्रों को इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी, प्रबंधन, फार्मेसी और अन्य व्यावसायिक विषयों में स्नातकोत्तर अध्ययन करने का अवसर प्रदान करना है।

छात्रवृत्ति की संख्या: 1,000

छात्रवृत्ति राशि: एमई, एमटेक पाठ्यक्रमों के लिए प्रति माह 7,800 रुपये और अन्य पाठ्यक्रमों के लिए 4,500 रुपये प्रति माह।

आयु सीमा: पुरुष आवेदकों के लिए ऊपरी आयु सीमा आवेदन के वर्ष में 1 जुलाई को 45 वर्ष और महिला उम्मीदवारों के मामले में 50 वर्ष है। असाधारण मामलों में, उम्र में छूट दी जा सकती है।