अजमेर के दानदाता ने 36 किलो चांदी के आभूषण महाकालेश्वर को किये भेंट, गुप्त रखा अपना नाम

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (ujjain) श्री महाकालेश्वर मंदिर (Shri Mahakaleshwar Temple) में राजस्थान के अजमेर से दर्शन हेतु पधारें दानदाता द्वारा श्री महाकालेश्वर मंदिर के पुरोहित श्री लोकेश शरदचंद्र व्यास (lokesh sharadchandra vyas) की प्रेरणा से श्री महाकालेश्वर भगवान हेतु रजत आभूषण व पूजन में उपयोग होने वाली वस्तुएँ दान की गई।

अजमेर के दानदाता ने 36 किलो चांदी के आभूषण महाकालेश्वर को किये भेंट, गुप्त रखा अपना नाम

जिसमें 1 नग मुकुट मय किरण, 1 नग मुण्ड माला , 1 नग चांदी के बिल्वपत्र की माला, 1 जोड़ कुंडल, 1 नग छत्र, 14 कटोरी( छोटी-बड़ी), 1 नग पंचारती, 1 नग मत्स्य आरती, 1 नग कपूर आरती , 3 थाली , 1 नग पंचपात्र, 1 नग आचमनी , 2 नग चवँर चांदी में मढ़े हुए, 1 पाटला चांदी से मढ़ा , 1 नग त्रिपुंड व 1 नग छोटा मुकुट भेंट किया। दानदाता द्वारा नाम गुप्त रखने की मंशा जाहिर की गई है।

Read More: बाढ़ पीड़ितों को राहत: CM Shivraj, केंद्रीय मंत्री सहित गोविंद राजपूत ने की कई घोषणाएं, जाने पैकेज

अजमेर के दानदाता ने 36 किलो चांदी के आभूषण महाकालेश्वर को किये भेंट, गुप्त रखा अपना नाम

सभी वस्तुओं का वजन लगभग 36 किलो 700 ग्राम है, जिसकी राशि रुपये लगभग 25 लाख है। दानदाता द्वारा विधिवत पूजन के बाद रजत आभूषण श्री महाकालेश्वर भगवान को अर्पित किये गए । जिसको मंदिर प्रबंध समिति के प्रशासक श्री नरेंद्र सूर्यवंशी द्वारा प्राप्त किया गया और दानदाता को समिति की कोठार शाखा द्वारा विधिवत रसीद प्रदान की गई । इस दौरान पं. भावेश व्यास, पं. तिलक व्यास, पं. विनोद व्यास आदि उपस्थित थे।

अजमेर के दानदाता ने 36 किलो चांदी के आभूषण महाकालेश्वर को किये भेंट, गुप्त रखा अपना नाम

ज्ञात हो कि श्री महाकालेश्वर मंदिर की सभी व्यवस्थायें दान के माध्यम से ही संचालित होती हैं। श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति द्वारा संचालित नि:शुल्क अन्नक्षेत्र, गौशाला आदि में भी अपनी श्रद्धानुसार अन्न दान भी करते हैं। समय –समय पर मंदिर के अधिकारी/ पुजारी/पुरोहितों/मंदिर प्रबंध समिति सदस्यों व कर्मचारियों के माध्यम से भी भक्तों को मंदिर में दान करने हेतु प्रेरित किया जाता है ।