मध्य प्रदेश : अब 3 विधायक होंगे बीजेपी में शामिल, सियासी हलचल तेज, क्या है सियासी मायने?

mpbjp

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आगामी चुनावों से पहले मध्य प्रदेश की राजनीति में एक बार फिर बड़ा उलटफेर होने जा रहा है। खबर मिल रही है कि आज 14 जून मंगलवार 11 बजे बीजेपी कार्यालय में 3 विधायक बीजेपी में शामिल हो सकते है। इसमें छतरपुर जिले की बिजावर विधानसभा सीट से सपा विधायक राजेश कुमार शुक्ला, भिंड से बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाहा और सुसनेस से निर्दलीय विधायक विक्रम सिह राणा के नाम शामिल है।

यह भी पढ़े.. इंदौर में भीषण सड़क हादसा, खड़े ट्रक में जा घुसी कार, 2 पुलिसकर्मियों समेत तीन की मौत

आगामी चुनावों से पहले बीजेपी के विधायकों की संख्या में एक बार फिर बढ़ोतरी होनी जा रही है। अटकलें लगाई जा रही है कि आज छतरपुर के बिजावर से समाजवादी पार्टी के इकलौते विधायक राजेश शुक्ला (बबलू भैया) और भिंड से बहुजन समाज पार्टी के विधायक संजीव कुशवाहा अपनी अपनी पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल होने जा रहे है।संजीव कुशवाहा की राजनीतिक पृष्ठभूमि बीजेपी से ही रही है और उनके पिता रामलखन सिंह पांच बार सांसद रह चुके हैं। संजीव कुशवाहा भी जिला पंचायत के अध्यक्ष रह चुके हैं और अपने क्षेत्र में जाने-माने लोकप्रिय चेहरे हैं, ऐसे में भिंड में बीजेपी मजबूत होगी।

इस समय यह दोनों विधायक बाहर से बीजेपी को समर्थन दे रहे हैं। वही निर्दलीय विधायक विक्रम सिह राणा के भी बीजेपी में शामिल होने की अटकले तेज है।खास बात ये है कि इन तीनों विधायकों पर दलबदल नियम लागू नहीं होगा क्योंकि समाजवादी पार्टी से केवल एक विधायक राजेश शुक्ला के भाजपा में शामिल होने से पार्टी का 100% विलय भाजपा में हो जाएगा। वही रामबाई और संजीव कुशवाहा के रूप में बसपा के पास दो विधायक हैं और इस तरह 50% विलय भाजपा में होने पर भी दलबदल अधिनियम लागू नहीं होगा। नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव के बीच समय में बीजेपी का यह मास्टरस्ट्रोक माना जा रहा है।

यह भी पढ़े.. राज्य कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, CM ने दी इस प्रस्ताव को मंजूरी, नहीं कटेंगी सैलरी और छुट्टियां

इन विधायकों के बीजेपी में शामिल होने को आगामी चुनावों से जोडकर देखा जा रहा है। चुंकी 18 जुलाई राष्ट्रपति चुनाव होना है,इसमें लोकसभा सांसद, राज्यसभा सांसद और राज्यों की विधानसभा के विधायक भाग लेते हैं। माना जा रहा है कि इस चुनाव में वोटों के गणित को देखते हुए भाजपा सेफ जोन बनाने में लगी है। वही जुलाई में ही नगरीय निकाय चुनाव होना है, इन विधायकों के शामिल होने से कांग्रेस को कड़ी टक्कर और बीजेपी को बड़ा समर्थन मिलेगा। 230 सदस्यों की मध्यप्रदेश विधानसभा में इस समय बीजेपी के 127 सदस्य हैं