मप्र में 60 घंटे का लॉकडाउन लागू, सामने आया शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आज 9 अप्रैल 2021 शुक्रवार से 11 अप्रैल 2021 सोमवार सुबह 6 बजे तक का पूरे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में टोटल लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया है।इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामने आया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से बचाव के लिए प्रदेशवासी अपना दायित्व निभाएँ। राज्य शासन अपने स्तर पर सभी व्यवस्थाएँ करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है।कोरोना संक्रमण के कारण बन रही पैनिक स्थिति को नियंत्रित करने में मीडिया से सहयोग की अपील की।

यह भी पढ़े.. मध्य प्रदेश में आबकारी अधिकारियों के तबादले, यहां देखें लिस्ट

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट उद्यान में पौध-रोपण के बाद मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी बड़े शहरों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा रही है। कुल एक लाख बिस्तरों की व्यवस्था का लक्ष्य है। निजी अस्पतालों का सहयोग भी लिया जा रहा है। इन अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था भी की जा रही है। इसके साथ ही बड़े शासकीय भवनों में अस्पताल जैसी व्यवस्था विकसित करने की भी योजना है। इसके लिए निजी क्षेत्र को भी हम प्रस्ताव दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। भारत सरकार ने भिलाई स्टील प्लांट से ऑक्सीजन की आपूर्ति पर सहमति दी है। इसके साथ ही केन्द्रीय रेल, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल से चर्चा हुई है। उनकी ओर से भी आश्वासन प्राप्त हुआ है कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी।

यह भी पढ़े.. 60 घंटे के लॉकडाउन से पहले डरावनी तस्वीरें- सड़कों पर जनसैलाब, नो सोशल डिस्टेंसिंग

शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी व्यक्तियों के टीकाकरण के लिए महात्मा ज्योतिबा फुले के जन्मदिवस 11 अप्रैल से डॉ. भीमराव अंबेडकर के जन्मदिवस 14 अप्रैल तक टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। अभियान में ग्रामीण क्षेत्र में टीकाकरण के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्र में ”किल कोरोना-दो” अभियान संचालित किया जा रहा है। इसके अंतर्गत गाँवों में सर्वे कर कोरोना प्रभावित व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उनकी उपयुक्त जाँच व इलाज की व्यवस्था की जाएगी।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि कोरोना से बचाव के लिए अपना दायित्व निभाएँ। वैज्ञानिक निष्कर्ष यही है कि मास्क के उपयोग और सुरक्षित दूरी बनाए रखने से कोरोना से बचा जा सकता है। वर्तमान समय में स्वस्थ रहना सबसे बड़ी मानव सेवा है। मास्क लगाने, दूरी बनाए रखने, अनावश्यक भीड़ न लगाने जैसे आत्मानुशासन का पालन करें।राज्य शासन के साथ सहयोग के लिए जुड़े कोरोना वॉलेंटियर्स को कोरोना संक्रमण के विरूद्ध अभियान में आवश्यकता के अनुसार जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।