मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति को हटाने के लिए ABVP का प्रदर्शन, कुलपति के चेंबर में घुसकर की नारेबाजी

जबलपुर में स्थित प्रदेश की इकलौती मेडिकल यूनिवर्सिटी में छात्र छात्राओं को पास-फेल करने का गोरखधंधा उजागर हुआ था जिस पर अब कुलपति पर भी कार्रवाई की मांग तेज हो गई है।

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर (Jabalpur) में स्थित एक मात्र मेडिकल यूनिवर्सिटी (medical university) में छात्र छात्राओं को पास-फेल करने का खेल उजागर होने के बाद उन अधिकारियों पर ही कार्रवाई कर दी गई जो अपनी जांच के जरिए गड़बड़ियों को सामने लेकर आए थे। मामले में जांच कमेटी के अध्यक्ष बनाय गए कुलसचिव डॉ जे.के गुप्ता ने आरोपों को सही पाकर अपनी जांच रिपोर्ट चिकित्सा शिक्षा विभाग को भेजी थी। लेकिन बीते दिनों कुलसचिव का तबादला कर दिया गया और उनकी जगह डॉ प्रभात बुढेलिया को यूनिवर्सिटी का नया कुलसचिव बना दिया गया। पूरे मामले में यूनिवर्सिटी के परीक्षा नियंत्रक और डिप्टी रजिस्ट्रार सहित कई कर्मचारियों पर भी कार्रवाई हुई है, लेकिन यूनिवर्सिटी के कुलपति पर कोई कार्रवाई न होने का विरोध तेज हो गया है।

यह भी पढ़ें…पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का बड़ा बयान – सीएम को लेकर कसा ये बड़ा तंज !

कुलपति डॉ टी.एन दुबे को पद से हटाने के लिए आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने भी यूनिवर्सिटी में जमकर विरोध जताया। और कुलपति के इस्तीफे की मांग करते हुए बड़ी तादाद में एबीवीपी कार्यकर्ता कुलपति के चेंबर में घुस गए। जहां कार्यकर्ताओं ने कुलपति के चेंबर में ही धरना देकर कुलपति को हटाने की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। और जमकर नारेबाजी भी की। साथ ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने चेतावनी दी कि जब तक भ्रष्टाचार के मुख्य आरोपी कुलपति को पद से नहीं हटाया जाता है तब तक उसका विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें…राज्यपाल को अलीराजपुर विधायक ने भेजा पत्र, ये की मांग

इधर, कुलपति डॉ टी.एन दुबे का कहना है कि पूरे घपले-घोटाले में उनकी उनकी कोई भूमिका नहीं थी इसलिए वह इस्तीफा नहीं देंगे, बता दें कि जबलपुर में स्थित प्रदेश की इकलौती मेडिकल यूनिवर्सिटी में छात्र छात्राओं को पास-फेल करने का गोरखधंधा उजागर हुआ था, जिस पर अब कुलपति पर भी कार्रवाई की मांग तेज हो गई है।