युद्ध स्तर पर पहुंची कोरोना से लड़ाई, सीएम शिवराज बोले – हम तैयार, अभियान जारी

इसके अलावा कई विभागों को स्वास्थ्य के उचित व्यवस्था करने के लिए फंड उपलब्ध कराए गए हैं। साथ ही लगातार अन्य राज्यों से ऑक्सीजन टैंकर प्रदेश पहुंचाए जा रहे हैं। वहीं रिमेडिसिवीर इंजेक्शन सहित जीवन रक्षक दवाओं की खेप लगातार मध्यप्रदेश पहुंच रही है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना (corona) से लड़ाई तेज की जा चुकी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने बताया कि प्रदेश के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर स्पेशल फीवर स्क्रीनिंग (Special fever screening) किया जा रहा है। इसके साथ ही किल कोरोना अभियान 2 (kill corona 2) को तीव्र गति से लागू किया गया है। इसके साथ ही टीम प्राथमिकता से सर्वे कर रही है। सीएम शिवराज (cm shivraj) ने कहा कि अभी तक सर्वे टीम द्वारा 2 करोड़ 29 लाख का सर्वे पूरा कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि किल कोरोना अभियान 9 मई तक जारी रहेगा।

इतनी सीएम शिवराज ने कहा कि मध्य प्रदेश के 94 फीसद से अधिक ग्राम पंचायत द्वारा कोरोना कर्फ्यू (corona curfew) का संकल्प लिया गया है। जहां प्रदेश के 22811 ग्राम पंचायत में से 21 हजार से अधिक ग्राम पंचायत ने कोरोना कर्फ्यू लगा लिया है। वहां अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी तरह की सरकारी और निजी कार्यालय 10% उपस्थिति के साथ संचालित हो रहे हैं। साथ ही सामाजिक, राजनीतिक, संस्कृति, खेल, शैक्षणिक और मनोरंजन की गतिविधि पर पूरी तरह से प्रतिबंध रखा गया है।

Read More: शिवराज सरकार का फैसला, स्वास्थ्य–चिकित्सा विभाग को आपदा से निपटने मिले 300 करोड़ रुपए

इतना ही नहीं जानकारी देते हुए सीएम शिवराज ने बताया कि 8 अप्रैल 2021 से प्रदेश भर में प्रति परिवार के लिए जीवन अमृत योजना भी शुरू की गई है। जहां प्रति परिवार एक लाख 16 हजार से अधिक काढ़े के पैकेट वितरित किए गए हैं । जिसकी संख्या अब 2लाख 92 हजार 448 तक पहुंच गई है।

इसके अलावा कई विभागों को स्वास्थ्य के उचित व्यवस्था करने के लिए फंड उपलब्ध कराए गए हैं। साथ ही लगातार अन्य राज्यों से ऑक्सीजन टैंकर प्रदेश पहुंचाए जा रहे हैं। वहीं रिमेडिसिवीर इंजेक्शन सहित जीवन रक्षक दवाओं की खेप लगातार मध्यप्रदेश पहुंच रही है।

वहीं प्रदेश में टीकाकरण का कार्य भी लगातार जारी है। हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर के साथ 45 वर्ष से अधिक के लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। 80 लाख 69 हजार से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है जबकि जल्दी प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का भी टीकाकरण किया जाएगा।