भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राजधानी में कांग्रेस नेता और पूर्व पार्षद साइबर क्राइम का शिकार हो गए। बंद पॉलिसी फिर से चालू कराने के नाम पर उनके पास एक तीन चार बार किसी लड़की का फोन आया और इसके बाद कांग्रेस नेता ने दिए गए नंबर पर एक लाख का चैक काट दिया। ठगी का शिकार होने के बाद अब उन्होने कमला नगर थाने में जालसाजी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है।

सांसद सिंधिया सहित सरकार के मंत्री निभाएंगे प्रेरक की भूमिका, मौजूद रहेंगे वैक्सीनेशन सेंटर पर

पूर्व पार्षद और कांग्रेस नेता प्रदीप उर्फ मोनू कोटरा सुल्तानाबाद में रहते हैं। अपनी शिकायत में बताया कि उन्होने अविवा लाइफ इंश्योरेंस की पॉलिसी ली थी और दो-तीन साल से उसका प्रीमियम नहीं भर पाए थे। फरवरी 2021 में उनके पास एक लड़की का फोन आया जिसने अपना नाम मोनिका बताया। उसने कहा कि वो अविवा लाइफ इंश्योरेंस से बोल रही है और उनकी पॉलिसी का एक लाख एक हजार आठ हजार अठहत्तर रूपये बकाया है। इसके बाद उस लड़की ने उन्हें दो तीन बार और फोन किया और एक नंबर दिया जिसमें राशि का चैक भरकर गाजियाबाद स्थित साहिबाबाद के एड्रेस पर पोस्ट करने को कहा। प्रदीप सक्सेना उस लड़की की बातों में आ गए और उन्होने चैक भेज दिया। ये चैक 12 मार्च 2021 को क्लियर भी हो गया। लेकिन कुछ समय बाद उन्हें अहसास हुआ कि उनके साथ ठगी हुई है और वो मामले का पता करने के लिए अविवा लाइफ इंश्योरेंस के एमपी नगर स्थित ऑफिस गए तो पता चला कि भुगतान न करने के कारण उनकी पॉलिसी बहुत पहले ही बंद कर दी गई थी। इसके बाद कांग्रेस नेता ने पुलिस में जालसाजी का केस दर्ज करवाया है।