किसानों के लिए बड़ी खबर- MP के कलेक्टरों को शिवराज सरकार ने दिए यह निर्देश

कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister) ने कहा है कि सरकार आग से फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के रूप में किसानों को आरबीसी-6 (4) में राहत राशि उपलब्ध करायेगी।

किसान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के किसानों के लिए बड़ी खबर है ।राजस्व व परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Govind Singh Rajput) ने कहा है कि आग या प्राकृतिक आपदा से फसलों को नुकसान होने पर किसान (Farmers) बिल्कुल भी चिंता न करें। क्षतिग्रस्त फसल के एक-एक दाने की भरपाई सरकार करेगी।  इस मामले में त्वरित कार्रवाई के लिए प्रदेश के समस्त कलेक्टरों को पत्र जारी करने के निर्देश प्रमुख सचिव राजस्व मनीष रस्तोगी को दिए हैं।

यह भी पढ़े.. MP Board: 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए राहत भरी खबर, हेल्पलाइन नंबर जारी

राजस्व मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश सरकार (MP Government) किसानों कि हर मुसीबत में उनके साथ है। अनेक मामलों में शॉर्ट-सर्किट या अन्य कारणों से दुर्घटनावश फसलें आग लग जाने के कारण नष्ट हो जाती हैं। फसल कटाई के समय ऐन वक्त पर हुए नुकसान से किसानों की रात-दिन की मेहनत और भविष्य की उम्मीदें समाप्त हो जाती हैं। फसलों में आगजनी की घटनाओं के बाद किसानों को लंबी कानूनी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था तब कहीं मुआवजे की राशि उन्हें मिल पाती थी।

अब किसानों को चिन्ता करने की जरूरत नहीं है, ऐसी अचानक आई प्राकृतिक आपदा अथवा अन्य किसी प्रकार की दुर्घटना से फसल नष्ट हो जाने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) की सरकार नुकसान का आंकलन कर तुरंत भरपाई करेगी। राजस्व मंत्री के रूप में मैं यह कह सकता हूँ कि क्षतिपूर्ति की प्रक्रिया को अब बहुत सरल और सहज कर दिया गया है। अब किसानों को आगजनी की घटनाओं पर भटकना नहीं पड़ेगा। घटना की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी मौके का मुआयना करके प्रकरण बनाएंगे, जिस पर तुरंत मुआवजे का भुगतान किया जायेगा।

यह भी पढ़े… College 2021 : MP के कॉलेज छात्रों के लिए एक और खुशखबरी, उच्च शिक्षा मंत्री ने दिए ये निर्देश

वही कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister) ने कहा है कि सरकार आग से फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के रूप में किसानों को आरबीसी-6 (4) में राहत राशि उपलब्ध करायेगी।विगत दिनों कुछ जिलों में आग (FIRE) लगने से हुई फसल-क्षति के सर्वे कराने के निर्देश भी दे दिये हैं। होशंगाबाद (Honshangabad) के ग्राम बुधवाड़ा से उंदराखेड़ी तक के मार्ग का उन्नयन 4 करोड़ 50 लाख रुपये से किया जायेगा। यह राशि मण्डी निधि से व्यय की जायेगी।