नारायण त्रिपाठी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने बोर्ड की परीक्षाएं रद्द होने के चलते छात्रों से वसूला गया परीक्षा शुल्क वापस करने की मांग की है। त्रिपाठी पहले भी कई बार जन समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री को सीधे पत्र लिख चुके हैं।

MP School: मध्य प्रदेश में खुलेंगे स्कूल! स्कूल शिक्षा विभाग ने जारी किया आदेश

सतना जिले के मैहर से बीजेपी के विधायक नारायण त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने मुख्यमंत्री से निवेदन किया है कि माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा प्रदेश के 10वीं एवं 12वीं के लगभग 7 लाख परीक्षार्थियों की परीक्षाएं कोरोना संक्रमण के चलते रद्द कर दी गई थी। ऐसा बच्चों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए किया गया था और ऐसे सभी बच्चों को जनरल प्रमोशन के माध्यम से अगली कक्षा में पहुंचा दिया गया। परीक्षाएं रद्द करने से पहले बच्चों से परीक्षा शुल्क लिया जा चुका था जो लगभग 180 करोड़ रुपये था और यह राशि मंडल के पास जमा है।

नारायण त्रिपाठी ने लिखा है कि ना तो परीक्षा हुई है ना ही उत्तर पुस्तिकाएं व प्रश्न पत्रों की व अन्य व्यवस्थाओं की आवश्यकता पड़ी है और इसीलिए मंडल पर ऐसा कोई अतिरिक्त भार नहीं आया है कि उसे इन पैसों की जरूरत हो। त्रिपाठी ने यह भी कहा है कि व्यक्तिगत रूप से उनके पास कई लोग आते हैं और ऐसे पालक व बच्चे परीक्षा शुल्क वापस दिए जाने की मांग कर रहे हैं जिनकी जिंदगी आर्थिक संकट से बदहाल हो रही है। कोरोना काल में गरीब, मध्यम वर्ग की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। सब आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। ऐसे में मंडल को बच्चों से ली गयी परीक्षा फीस वापस की जानी चाहिए। त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री से निवेदन किया है कि छात्र हित में वे माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल को निर्देश दें ताकि बच्चों का परीक्षा शुल्क वापस दिए जा सकें।

बीजेपी विधायक ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, छात्र हित में की ये मांग