CBI Raid : जबलपुर में सीबीआई का छापा, 2 अधिकारी 3 लाख 10 हजार के साथ गिरफ्तार

जानकारी के अनुसार, गैरिसन इंजीनियरिंग कार्यालय ने शहर के विभिन्न सैन्य कार्यालयों का फर्नीचर बनाने व मरम्मत का ठेका  सत्या एंड संस को दिया था, जिसका दस लाख रुपए का बिल हुआ था, जिसे पास करने के एवज में ऑफिस बैरक इंचार्ज सुजीत बैठा और स्टोर कीपर जयदीप शुक्ला ने कंपनी संचालक से 3 लाख 10 हजार रुपए की रिश्वत (Bribe) की मांग की थी।

CBI-raided-

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर जिले (Jabalpur District) में CBI ने बड़ी कार्रवाई की है। सीबीआई ने सैन्य कार्यालय गैरिसन इंजीनियरिंग वेस्ट एमईएस (MES) पर छापा (RAID) मारा है। सीबीआई ने दो अधिकारियों को 3 लाख 10 हज़ार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। आरोप है कि बैरेक ऑफिसर सुजीत बैठा और स्टोर कीपर जयदीप शुक्ला ने सत्या एन्ड सन्स फर्नीचर का बिल पास करने के लिए 3.10 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की थी।कार्रवाई के बाद से ही एमईएस में हड़कंप मच गया है।

जानकारी के अनुसार, गैरिसन इंजीनियरिंग कार्यालय ने शहर के विभिन्न सैन्य कार्यालयों का फर्नीचर बनाने व मरम्मत का ठेका  सत्या एंड संस को दिया था, जिसका दस लाख रुपए का बिल हुआ था, जिसे पास करने के एवज में ऑफिस बैरक इंचार्ज सुजीत बैठा और स्टोर कीपर जयदीप शुक्ला ने कंपनी संचालक से 3 लाख 10 हजार रुपए की रिश्वत (Bribe) की मांग की थी। इसकी शिकायत कंपनी संचालक ने सीबीआई से की,  जिसके बाद सीबीआइ ने रिश्वतखोर अधिकारियों को रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई और आज बुधवार (Wednesday) को सुबह 10:30 बजे दोनों अभियंताओं की कंपनी संचालक से बात कराई और आधा घंटे बाद गैरिसन इंजीनियरिंग कार्यालय वेस्ट एमईएस में उन्हें रिश्वत लेते ट्रैप कर लिया।

सीबीआइ टीम ने गैरिसन इंजीनियरिंग के दोनों अभियंताओं के कब्जे से नकद एक लाख रुपये और एक भरा हुआ चेक (दो लाख दस हजार रुपये) जब्त किया। सीबीआइ ने इन आरोपितों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (Prevention Of Corruption Act)  के अंतर्गत प्रकरण बनाया है।अब दोनों आरोपी अधिकारियों को गुरुवार को स्पेशल कोर्ट (Special Court) में पेश किया जाएगा।