उपचुनाव जीत के बाद आज झाबुआ जाएंगे कमलनाथ, कर सकते है कई बड़े ऐलान

भोपाल/झाबुआ।

झाबुआ उपचुनाव में मिली जीत से कांग्रेस गदगद है और इसी के कारण आज प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ 3 दिसंबर को झाबुआ जाएंगें और विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस को अब तक की सबसे बड़ी जीत मिलने के बाद मतदाताओं के प्रति आभार व्यक्त करेंगे। माना जा रहा है कि वे इस दौरान झाबुआ को लेकर कई महत्वपूर्ण घोषणा कर सकते है।।वही झाबुआ में अगली कैबिनेट बैठक होनी की भी संभावना है।

सीएम कमलनाथ के साथ 10 मंत्रियों और दर्जनभर बड़े नेताओं के आने की खबर है। यहां मुख्यमंत्री करीब दोपहर साढ़े 12 बजे पहुंचेंगे।मुख्यमंत्री का उपचुनाव में कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया की जीत के बाद ये पहला दौरा है। माना जा रहा है, कार्यक्रम में वो यहां के वोटरों का आभार मानेंगे। इसके साथ ही बडी घोषनाएं कर सकते है। चुंकी उपचुनाव के दौरान सीएम कमलनाथ ने भी कहा था कि छिंदवाड़ा की तरह झाबुआ भी अब उनका अपना घर है। झाबुआ को वे गोद लेते हुए छिंदवाड़ा की तर्ज पर यहां का विकास करेंगें।  चुनाव के पहले कमलनाथ ने जिले के 4 दौरे किए थे। चुनाव परिणाम के एक महीने से भी ज्यादा समय बीतने के बाद ये दौरा तय हुआ है।

कर सकते है ये घोषणा

माना जा रहा है कि अलग-अलग परियोजनाओं के लिए करोडों रुपए देने की घोषणा होगी।मुख्यमंत्री अपने इस दौरे में झाबुआ के ट्रेंचिंग ग्राउंड के विकास के लिए, शहर में 18 किमी पेयजल पाइप लाइन बिछाने व धरमपुरी डेम की वजह से डूब में आ रहे किसानों को मुआवजा देने के लिए बडी राशि की घोषणा करेंगे। इसके अलावा कांजी हाउस, गौशाला आदि के लिए भी जमीन देने की घोषणा करते हुए अन्य विकास कार्य स्वीकृत करने की संभावना है।

हितग्राहियों को देंगे लाभ 

-वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत 20 हितग्राहियों को वन अधिकार पत्र देंगे।

-5 लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत हर एक को 1.18 लाख की राशि एवं प्रमाण पत्र का वितरण। 

-बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना अंतर्गत 2018-19 में कक्षा 10वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली 10 बालिकाओं को 5-5 हजार रुपए देंगे। 

-12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली 10 बालिकाओं को भी 5-5 हजार रुपए दिए जाएंगे।

-महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित वन स्टाप सेंटर के अंतर्गत उत्कृष्ट सेवाओं के लिए लीला परमार एवं 6 आंगनबाड़ी केंद्र की कार्यकर्ताओं को सम्मान पत्र देंगे।

-मत्स्योद्योग द्वारा 6 स्वयं सहायता समूहों को व 1 समिति को मछली पालन पट्टा दिया जाएगा।

-मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत 25 हितग्राहियों को 40.90 लाख, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण के 19 हितग्राहियों को 9.50 लाख, नगद साख सीमा में 26 स्वयं सहायता समूहों को 26.28 लाख, सामुदायिक निवेश निधि के 102 हितग्राहियो को 80.15 लाख की राशि का वितरण होगा।