शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान-लॉकडाउन समाधान नहीं, इससे बेहतर तो…

सीएम शिवराज सिंह चौहान
cabinet meeting

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। MP में पिछले 24 घंटे में सामने आए 6489 नए केसों (Coronavirus) और 37 मौतों के बाद सम्पूर्ण लॉकडाउन की अफवाहों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  (CM Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामने आया है। सीएम शिवराज  ने साफ कहा है कि लॉकडाउन (Lockdown 2021) परिस्थिति का समाधान नहीं है। लॉकडाउन से बेहतर तो है कि यदि चेहरा लॉक हो जाए हम मुंह पर मास्क लगा लें और पैर भी लॉक हो जाएं अर्थात हम घर से अनावश्यक ना निकलें तो लॉकडाउन की स्थिति ही निर्मित नहीं होगी।

यह भी पढ़े.. हर जिले को 2 करोड़ की राशि, सीएम शिवराज बोले- युद्ध स्तर पर जुट जाएं सभी मंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट पार्क में पौधारोपण के उपरांत मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि अगले दो-तीन दिन में रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remedicivir Injection) का संकट समाप्त हो जाएगा। प्रदेश में Oxygen की पर्याप्त व्यवस्था है, प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है।इसके साथ ही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर क्रय के निर्देश दे दिए गए हैं, शीघ्र ही दो हजार कंसंट्रेटर की व्यवस्था होगी।। आकस्मिक व्यवस्था के उद्देश्य से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना संक्रमण की स्थिति से निपटने के लिए मंत्रियों को जिलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। मंत्री (Minister), जिला प्रशासन (District Administration), सामाजिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं से मिलकर इस संकट से निपटने के लिए मैदानी स्तर पर कार्य करेंगे।

राज्य सरकार अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने और कोविड केयर सेंटर स्थापित करने की दिशा में निरंतर सक्रिय है। कहीं पर भी दवा व आवश्यक उपकरणों की कमी नहीं होने दी जायेगी। शासकीय के साथ-साथ निजी अस्पतालों का भी सहयोग लिया जा रहा है। बड़े शासकीय भवनों को अस्पताल के रूप में विकसित करने का प्रस्ताव भी निजी क्षेत्र को दिया गया है।

यह भी पढ़े.. कोरोना संकटकाल में राज्य शासन का बड़ा फैसला, अधिकारी-कर्मचारियों की लगाई ड्यूटी

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी लोग मास्क लगाने, आवश्यक दूरी बनाए रखने तथा अनावश्यक भीड़ न लगाने जैसी सावधानियों का पालन करें। जिलों के आपदा प्रबंधन समूह अपने स्तर पर जनता कर्फ्यू लगाने का निर्णय ले रहे हैं। यह इस बात का प्रतीक है कि जनता स्वयं कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए गंभीर है। स्थानीय स्तर पर आपसी सहमति से लगाया गया जनता कर्फ्यू और आवागमन तथा बाजार संचालन पर प्रतिबंध संक्रमण रोकने में अधिक प्रभावी होंगे।

इससे पहले रविवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण को प्रभावी रूप से रोकने के लिए जनता से चर्चा कर शहरों में स्वतः स्फूर्त कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा। प्रदेश व्यापी लॉक डाउन नहीं लगाया जाएगा। जिलों में स्थानीय क्राइसिस मैनेजमेंट समूह स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप जनता से चर्चा उपरांत निर्णय लेंगे। हमें आर्थिक गतिविधियों को भी चालू रखना है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए जनता को जागरूक किया जा रहा है कि वह स्वयं बिना कार्य के घर से न निकले। स्वतः स्फूर्त कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) सबसे कारगर उपाय है।