सदन में नहीं मिला बोलने का समय तो कांग्रेस विधायक ने उतारे कपड़े

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। विधानसभा मानसून सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को उस समय अजीब सी स्थिति बन गई जब कांग्रेस के विधायक बाबूलाल जंडेल ने अपनी शर्ट उतार दी। दरअसल जंडेल विधानसभा अध्यक्ष द्वारा ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के दौरान बोले जाने की अनुमति न दिए जाने से नाराज थे।

OBC आरक्षण पर रार, शिवराज ने कमलनाथ पर दागे सवाल

ग्वालियर चंबल संभाग के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में श्योपुर भी एक है। वहां पर बाढ़ की विषम परिस्थिति के चलते लोगों की हालत खराब है और जन धन की व्यापक हानि हुई है। बाढ़ की स्थिति का सामना न करने के चलते वहां पर कलेक्टर, एसपी, एडीएम और सीएमओ तक हटाए जा चुके हैं। सरकार तेजी के साथ राहत कार्य चलाने का काम कर रही है लेकिन उसके बावजूद स्थितियां अभी सामान्य नहीं हुई है। इसी बात को लेकर श्योपुर से कांग्रेस के विधायक बाबूलाल जंडेल ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के माध्यम से इस बात को उठाना चाहते थे कि श्योपुर में स्थितियां किस कदर बदहाल हैं और उन्हें सुधारने के व्यापक प्रयास नहीं हो रहे हैं। लेकिन जब विधानसभा अध्यक्ष ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी तो बाबू लाल जंडेल ने अपनी शर्ट उतार दी और कहा कि जब जनता के लिए भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं तो उन्हें कपड़े पहनने का भी अधिकार नहीं है। इसके बाद वे विधानसभा परिसर में बिना शर्ट के ही घूमते रहे और मीडिया से चर्चा करते रहे। बाबूलाल का यह कारनामा पूरे विधानसभा में मंगलवार को चर्चा का विषय बना रहा।