CM Shivraj, Yogi Adityanath समेत तमाम दिग्गज ने Koo App पर मनाया हिंदी दिवस, 6 लाख से अधिक यूजर्स उत्सव में शामिल

नेताओं के अलावा कई बड़े कलाकारों ने भी इस उत्सव में हिस्सा लिया, मशहूर लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने Koo पर वीडियो डालकर हिंदी दिवस की बधाई दी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आमतौर पर हिंदी भाषा (Hindi Diwas) में बातचीत को लेकर लोगों के बीच में हमेशा एक नकारात्मक सोच रहती है. लेकिन अब हिंदी भाषा में बातचीत करना कूल (Kool) हो गया है। जी हां, ये बात अब हर कोई मानने लगा है। स्वदेशी ऐप Koo  पर हिंदी में बातचीत करना अब सभी को Kool लगने लगा है। हिंदी दिवस के खास मौके पर देसी माइक्रोब्लॉगिंग Koo App पर पूरे दिन #हिंदी मतलब कू ऐप ट्रेंड करता रहा। सबसे रोचक बात ये है कि कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों और जाने माने लोगों ने हिंदी दिवस पर बधाई देने के लिए #हिंदी मतलब कू ऐप का खूब इस्तेमाल किया।

इन बड़े नेताओं और दिग्गजों ने हिंदी दिवस को बनाया कूल

हिंदी दिवस के मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath on Koo), मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan on Koo), हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur on Koo) समेत तमाम दिग्गज नेताओं ने Koo के जरिए लोगों को बधाई दी, हिंदी के प्रति अपना प्यार जताया और साथ ही ये भी कहा कि #हिंदी मतलब कू ऐप, यानि हिंदी में माइक्रोब्लॉगिंग के लिए Koo सबसे बेहतरीन प्लेटफॉर्म है.

Koo पर ट्रेंड करता रहा #कू पे कूल है हिंदी, #हिंदी मतलब कू ऐप और #कू पे कहो

हिंदी के सबसे बड़े माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म Koo App (Top Hindi Microblogging Koo App) पर पिछले हफ्ते भर से मातृभाषा को लेकर खास मुहिम चलाई गई. सबसे रोचक बात ये है कि अपनी मातृभाषा को लेकर चल रहे सोशल कैंपेन में जाने-माने नेताओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया. #कू पे कूल है हिंदी, #हिंदी मतलब कू ऐप और #कू पे कहो जैसे हैशटैग्स आज पूरे दिन Koo App पर ट्रेंड होते रहे.

कई दिग्गजों ने कहा #हिंदी मतलब कू ऐप और #कू पे कूल है हिंदी

Koo App पर कई दिग्गज नेताओं ने हिंदी दिवस की बधाई देते हुए लिखा  #हिंदी_मतलब_कू_ऐप. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ अपने Koo प्रोफाइल पर लिखा कि, “विविधता से परिपूर्ण देश में राष्ट्रीय एकता की प्रतीक हिंदी भाषा हमारी पहचान एवं संस्कृति का अभिन्न अंग है। आइए, राष्ट्रभाषा व विश्वभाषा के रूप में स्थापित करने हेतु हिंदी के अधिकाधिक प्रयोग का संकल्प धारण करें। #हिंदी_मतलब_कू_ऐप”

 मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) ने अपने Koo अकाउंट से लिखा, “भाषा केवल संवाद का माध्यम नहीं; हमारी शक्ति, संस्कृति, जीवन का आधार है। इसके मान, सम्मान, गौरव में ही हमारी उन्नति है। इसे आदर दें। जय हिन्द, जय हिन्दी!  #कू पे कूल है हिंदी

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी लिखा कि हिन्दी है भारत की शान है, हिन्दी से ही तो है हिन्दुस्तान की पहचान है. आइये, इस ”हिन्दी दिवस” पर देश की पहचान और शान के संरक्षण हेतु हिन्दी को बढ़ावा देने का दृढ़ संकल्प लें।”

 Koo पर इस हिंदी दिवस सेलिब्रेट कर रहे नेताओं में छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री श्री अर्जुन मुंडा, बिहार के पूर्व मंत्री और राजद नेता श्री तेज प्रताप यादव, JDU के अनुभवी नेता उपेंद्र कुशवाहा, JDU प्रवक्ता अरविंद निषाद, राजस्थान सरकार के मंत्री सुखराम बिश्नोई, उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री रमा शंकर सिंह पटेल, मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री डॉ. मोहन यादव और कई विधायकों ने भाग लिया.

नेताओं के अलावा कई बड़े कलाकारों ने भी इस उत्सव में हिस्सा लिया, मशहूर लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने Koo पर वीडियो डालकर हिंदी दिवस की बधाई दी और हिंदी से अपने जुड़ाव के बारे में बताया. इसके अलावा अभिनेता विनय आनंद ने अपने कौशल का प्रदर्शन करते हुए एक दिलचस्प वीडियो पोस्ट किया, जबकि दिल्ली 6 अभिनेता पंकज झा और रामायण के भगवान राम, अरुण गोविल ने रचनाकारों से आगे आने और भाग लेने का आग्रह करते हुए इस पहल की सराहना की।

Koo (कू) के एक प्रवक्ता ने कहा, “#KooHindiFest 2021 के साथ, हमारा उद्देश्य हिंदी भाषा की समृद्धि का जश्न मनाना है जो भारत में सबसे अधिक बोली जाने वाली आधिकारिक भाषाओं में से एक है। हालाँकि, पहल बहुत बड़ी है – इसका उद्देश्य लोगों को याद दिलाना और देश भर में बोली जाने वाली विभिन्न देशी भाषाओं के महत्व पर जोर देना है। हम उत्सव के पहले संस्करण की सफलता से बहुत उत्साहित हैं।

जीवन के विभिन्न क्षेत्रों  के यूजर्स जैसे – किसान, सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षक, गृहिणी और छात्र की प्रतिक्रिया वास्तव में उत्साहजनक रही।  यह स्पष्ट रूप से इस बात पर प्रकाश डालता है कि कैसे Koo(कू) भारतीयों को अपनी मातृभाषा में विभिन्न विषयों पर अपनी राय व्यक्त करने में मदद कर रहा है – जिसे अब तक किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने सक्षम नहीं किया है।“

8 सितंबर को शुरू हुआ था #KooHindiFest

#KooHindiFest 2021 को 08 सितंबर, 2021 को पलाश सेन द्वारा यूफोरिया के नए एल्बम ‘सेल’ के लॉन्च के साथ लॉन्च किया गया था. देसी ऐप Koo पर पिछले हफ्ते भर से मातृभाषा के प्रति सम्मान दिखाने के लिए  हिंदी फेस्ट चलाया गया जिसमें यूजर्स के लिए तरह-तरह के प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। Koo App पर हुई इन प्रतियोगिताओं में #कविशाला, #मिट्टीकास्वाद, #गीतसागर, #अभीपिक्चरबाकीहै शामिल हैं। कविशाला के तहत प्रतियोगियों को अपनी लिखी कोई कविता या शायरी पोस्ट करने को कहा गया था। मिट्टी का स्वाद के तहत यूजर्स को अपनी पसंदीदा घूमने की जगहों के बारे में बात करने को कहा गया था।

गीतसागर में अपनी आवाज में कोई गीत भेजना था और अभी पिक्चर बाकी है में 15 सेकेंड की एक्टिंग करते हुए एक वीडियो अपलोड करना था. इन प्रतियोगिताओं में विजेता हुए यूजर्स को स्मार्टफोन और आई-पैड गिफ्ट किया जा रहा है।इसके अलावा Koo पर #एकदिनकानायक नाम से मुहिम भी चलाई गई जिसमें यूजर्स ने ये बताया कि अगर एक दिन के लिए उन्हें नेता बना दिया जाए तो वो क्या बदलाव लाएंगे, क्या अहम फैसले करेंगे। इन सभी प्रतियोगिताओं में यूजर्स ने जम कर हिस्सा लिया और #कूपेकहो हैशटैग लगातार ट्रेंड करता रहा।

Koo के बारे में  

koo ( कू) की स्थापना मार्च 2020 में भारतीय भाषाओं में एक माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के रूप में की गई थी।  कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध, भारत के विभिन्न क्षेत्रों के लोग अपनी मातृभाषा में  अपने विचार व्यक्त कर सकते हैं।  एक ऐसे देश में जहां भारत का सिर्फ 10% हिस्सा अंग्रेजी बोलता है, वहां एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की बड़ी आवश्यकता है जो भारतीय उपयोगकर्ताओं को उनकी अपनी भाषा का अनुभव दे सके और उन्हें कनेक्ट करने में सहायता कर सके। koo ( कू) उन भारतीयों की आवाज़ के लिए एक मंच प्रदान करता है जो भारतीय भाषाओं को पसंद करते हैं।