इंदौर: बढ़ाए गए कंटेनमेंट जोन, ये इलाके लॉक, 7 मई तक जनता कर्फ्यू, आदेश जारी

कलेक्टर मनीष सिंह ने जिले के सभी नागरिकों से अपील कि हैं की कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। कोई भी व्यक्ति बिना कार्य के घर से बाहर ना जाये। हम-सबको मिलकर कोरोना संक्रमण की चेन को तोडना है। यह घरों में रहकर ही संभव है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। कोरोना की दूसरी लहर में भी इंदौर (indore) लगातार हॉटस्पॉट (hotspot) बनारस इंदौर में अप्रैल में 42000 से अधिक संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई। वही 185 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि राहत की बात यह रही कि कई लोग स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौटे। इधर लगातार बढ़ रहे कोरोना केस (corona cases) को देखते हुए संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए नए नियम तय किए गए हैं। जहां शहर के 27 इलाकों को और माइक्रो कंटेंटमेंट एरिया (Micro Content Area) घोषित किया गया है। इसके अलावा जिले में 7 मई तक प्रतिबंध की अवधि तक बढ़ा दिया गया है। इस मामले में कलेक्टर (collector) ने आदेश जारी कर दिए।

बता दें कि जिन इलाकों को कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) बनाया गया है। उसमें समाजवादी इंदिरा नगर, लक्ष्मी नगर, छोटा बांगड़दा, पार्श्वनाथ नगर, शिरपुर सिमरन पैलेस, जवाहर टेकरी, ग्रेटर वैशाली नगर, माननीय विहार कॉलोनी, स्कीम नंबर 103 सहित असरावद खुर्द ग्राम पंचायत शामिल है।

इधर कलेक्टर ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी मनीष सिंह ने आज एक आदेश जारी कर जनता कर्फ्यू नगर निगम इंदौर सीमा क्षेत्र में वर्तमान प्रतिबंधित प्रतिबंधों के साथ 07 मई, 2021 तक के लिये बढा दिया है। ग्रामीण क्षेत्रों हेतु नगर निगम, इंदौर सीमा क्षेत्र को छोड़कर जिले के अन्य ग्रामीण क्षेत्र एवं नगर पंचायत क्षेत्र, कंटोनमेंट क्षेत्र हेतु पृथक से जनता कर्फ्यू आदेश जारी किया जा चुका है।  जो 7 मई, 2021 तक लागू है।

क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट, पुलिस, स्थानीय निकाय सम्पूर्ण जिले में जारी आदेशों के तहत जनता कर्फ्यू को सख्ती से सुनिश्चित करायेगे। यह आदेश तत्काल प्रभावी से प्रभावशील रहेगा। आदेश का उल्लंघन भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 अंतर्गत दण्डनीय अपराध की श्रेणी में आयेगा। शेष आदेश एवं उसमें समय-समय पर दी गयी छूट पूर्ववत लागू रहेगी।

Read More: जिले में 7 मई तक बढाया गया लॉकडाउन, कलेक्टर ने जारी किए आदेश, कड़े प्रतिबंध के निर्देश

कलेक्टर मनीष सिंह ने जिले के सभी नागरिकों से अपील कि हैं की कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। कोई भी व्यक्ति बिना कार्य के घर से बाहर ना जाये। हम-सबको मिलकर कोरोना संक्रमण की चेन को तोडना है। यह घरों में रहकर ही संभव है। मॉस्क पहनने, दूरी बनाकर रहें, होम आइसोलेशन में रह रहें लोगों को प्रोटोकोल अनुसार दवाई, संतुलित भोजन, तरल पेय आदि लेते रहें और सकारात्मक रहें, जिससे जल्दी कोविड से स्वस्थ हो सकते है। जांच करवाने के बाद स्वयं अपने घर में ही आइसोलेट रहे और जॉच रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो आपको मोबाइल मेडिकल यूनिट दवाई आदि घर पर ही उपलब्ध कराई जाएगी।

कलेक्टर सिंह ने कहा कि कोविड सम्बन्धी जानकारी के लिए हेल्पलाइन नम्बर 1075 पर संपर्क कर सकते है। पोजिटिव आने के बाद यदि कोई लक्षण नहीं है और घर में अलग रहने की व्यवथा न हो, तो जिले के कोविड केयर सेंटर पर भर्ती रहें ताकि अन्य परिवारजनों को संक्रमण न हो।

कलेक्टर सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी जिले में लगातार बढ़ रहा हैं। कोविड-19 के अतंर्गत इंदौर जिलें में संक्रमण को रोकने के लिए लोगों को कई तरह के जागरूकता के कार्य किये जा रहे है। साथ ही लोगों को घरों में रहें, बे-वजह घर से बाहर न निकले, बार-बार हाथों को साबुन धोते रहें, दो गज की दूरी बनाकर रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

कोरोना से बचाव के लिए समय-समय पर मिलने वाले संक्रमित मरीजों को कोरोना से निजात दिलाने की कार्यवाही युद्ध स्तर पर जारी है। राज्य और अन्य राज्यों से आये यात्रियो की स्क्रीनिंग कार्य मेडीकल टीम द्वारा समय-समय पर कराने की सुविधा दी गई है। जिसमें विदेश भ्रमण से आये व्यक्तियों को स्क्रीनिंग की सुविधा प्रदान की गई। संक्रमित व्यक्तियों के सेम्पल लिये जा रहे है। साथ ही कोरोना वायरस सेम्पल रिपोर्ट पॉजीटिव पाई जाने पर उन्हें होम क्वारेंटाइन किया जा रहा है।