इंदौर – दिल दहलाने वाली घटना, पति की कोरोना से मौत के बाद पत्नी ने लगाई फांसी

इंदौर, आकाश धोलपुरे। साथ जीने मरने की कसम खाने वाले नेहा और पवन की प्रेम कहानी का बेहद दुःखद अंत हुआ। पांच साल पहले लव मैरिज करने वाले कपल की जिंदगी नई उड़ान भरने को तैयार थी लेकिन एक अदृश्य दुश्मन ने पवन को अपनी चपेट में ले लिया और आखिरकार 15 दिनों तक चली जिंदगी और मौत की जंग के बीच पवन जिंदगी की जंग हार गया। इस बात का पता चलते ही उसे जान से भी ज्यादा चाहने वाली पत्नी नेहा ने घर पहुंचकर खुद को फांसी लगा ली और अपनी जान दे दी।

देश में कोरोना ने किया 3.79 लाख का आंकड़ा पार, रिकॉर्ड मौतें, महाराष्ट्र में हालात बेकाबू

पहले लव और उसके बाद मैरिज की परिकथा का ऐसा अंत किसी ने सोचा नहीं था। पवन और नेहा की जिंदगी बहुत खुशहाल चल रही थी। पत्नी जहां निजी कॉलेज में प्रोफेसर थी तो पति का हाल ही पीएससी के जरिये रेंजर के पद पर चयन हुआ था। लेकिन कोरोना की चपेट में आने के कारण वो ड्यूटी ज्वाइन ही नहीं कर पाया। 19 अप्रैल को कोरोना ने दोनों की खुशियों पर ग्रहण लगा दिया और 36 साल के पवन पंवार को कोरोना संक्रमण हो गया। 18 साल पुराने प्यार को शादी के बंधन में जुड़े अभी 5 साल ही बीते थे कि कोरोना ने दोनों की जिंदगी पर प्रहार कर दिया। इंदौर के राजेंद्र नगर में रहने वाले इस दंपत्ति में से पति ने आज सुबह हमेशा के लिए संसार को विदा कह दिया। सुबह 10 बजे भंवरकुआ क्षेत्र में स्थित एक निजी अस्पताल में पवन जिंदगी की जंग हार गया और जैसे ही पत्नी को इस बात की जानकारी लगी तो वो गहरे सदमे में चली गई। पवन के परिजन बड़वानी से तो नेहा के परिजन बिलासपुर से इंदौर पहुंच चुके थे। अब जब पवन की बॉडी को अंतिम संस्कार के लिए बड़वानी ले जाने की तैयारी हो रही थी तो नेहा अपने घरवालों के साथ कपड़े लेने के बहाने राजेंद्र नगर के सेंचुरी पार्क स्थित घर जा पहुंची। यहां नेहा ने जो खौफनाक कदम उठाया, उसे सुनकर सब सकते में हैं। 34 साल की नेहा ने अपने ही घर में फांसी लगाकर जान दे दी। पति के वियोग को थोड़ी देर भी सह न पाने वाली पत्नी, कुछ ही देर में दुनिया को छोड़ गई

जानकारी के मुताबिक नेहा और पवन की लव स्टोरी 18 साल पहले छत्तीसगढ़ के कोरबा से शुरू हुई थी जिसका दुःखद अंत कोरोना के एपिसेंटर बन चुके इंदौर में हो गया। पिछले 15 दिनों से हर पल अपने पति के स्वस्थ होने का इंतजार कर रही प्रोफेसर नेहा को आखिर में मायूसी मिली और उसने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। घटना के बाद राजेन्द्र नगर पुलिस ने नेहा के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। राजेन्द्र नगर थाना के एसएसआई कुंदन ने बताया कि पति की कोरोना से मौत हो जाने के बाद दुखी पत्नी नेहा ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। पुलिस अब खुदकुशी के मामले की जांच कर रही है।