मध्य प्रदेश को मिली बड़ी सौगात, बनेगा विश्व स्तरीय मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह (Food and Civil Supplies Minister Bisahulal Singh) ने कहा कि प्रदेश में विश्व स्तरीय मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब (Multi Model Logistics Hub) की स्थापना की जाएगी। इस लॉजिस्टिक हब का निर्माण 52 माह में पूरा होने का लक्ष्य रखा गया है। मार्च 2024 तक परियोजना अपना मूर्त रूप प्राप्त कर लेगी।

लॉजिस्टिक हब का निर्माण पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड (Public Private Partnership Mood) पर किया जाएगा, क्योंकि मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) देश के मध्य में है इसलिए एक से दो राज्य को भेजे जाने वाले सामान को लॉजिस्टिक हब में रखा जा सकेगा और यहां से उसकी अन्य राज्यों को डिलीवरी की जाएगी। उन्होंने मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब सेंटर फॉर पेरिशबल कार्गो उद्योग के अनुकूल परिसंपत्तियों का उन्नयन आधुनिकरण मुद्रीकरण एवं लॉजिस्टिक संचालन का डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से एंड टू एंड इंटीग्रेशन किए जाने की समग्र रूपरेखा पर चर्चा की।

पहले से कर लें उपार्जन कार्य की व्यवस्था
उन्होंने उपार्जन कार्य एवं बारदानों की समीक्षा कर अधिकारियों को अग्रिम रूप से व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई ने बताया कि शासन की मंशा के अनुरूप प्रदेश को देश के मुख्य भंडारण एवं लॉजिस्टिक हब के रूप में स्थापित किया जाए। मंत्री सिंह ने नाश्रवान सामग्री के लिए हवाई अड्डे पर सेंटर फॉर पेरिशेबल कार्गो की स्थापना के कार्य की प्रगति की समीक्षा की। किदवई ने बताया कि यह परियोजना डेढ़ वर्ष में पूरी किए जाने का लक्ष्य है। इसका संचालन 1 अप्रैल 2022 से शुरू किया जाने का लक्ष्य मंत्री सिंह ने प्रदेश में उपलब्ध संसाधन उद्योगों के अनुकूल उन्नयन किए जाने की समीक्षा की। प्रमुख सचिव ने कहा कि प्रदेश में उपलब्ध मौजूद परिसंपत्तियों का उन्नयन किया जा रहा है। उनके आधुनिकरण एवं मुद्रीकरण का आकलन कर उद्योग के अनुकूल संसाधनों के उड़ने का कार्य प्रगति पर है। इसे समय सीमा 31 मार्च 2021 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here