MP Board – इस तारीख तक भरे जाएंगे 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के फॉर्म

भले ही तारीखों का ऐलान नहीं किया गया हो लेकिन एमपी बोर्ड (MP Board) ने परीक्षाओं के लिए फॉर्म (Exam Form) भरवाना शुरू कर कर दिया है। इसके लिए आखरी तारीख 15 दिसंबर तय की गई है। इसके बाद लेट फीस (Fees) चार्ज की जाएगी।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना संक्रमण (Corona Infection) का सबसे ज्यादा असर स्कूल और शिक्षा पर पड़ रहा है। एक तरफ स्कूल नही खुले है वही दूसरी तरफ 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं (Board Exam) कब होगी अभी यह तय नहीं हो पाया है, हालांकि हाल ही हुई स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( Shivraj Singh Chauhan) ने तय समय पर परीक्षाएं करवाने के संकेत दिए थे।

यह भी पढ़े…MP Board – इस बार देरी से होगी 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं, यह है बड़ा कारण

दरअसल, बीते दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) की समीक्षा बैठक में यह साफ किया था कि बोर्ड परीक्षाएं तय समय पर ही कराईं जाएंगी। लेकिन इसकी तारीखों (Dates) का ऐलान अभी तक नहीं किया गया है।  भले ही तारीखों का ऐलान नहीं किया गया हो लेकिन एमपी बोर्ड (MP Board) ने परीक्षाओं के लिए फॉर्म (Exam Form) भरवाना शुरू कर कर दिया है। इसके लिए आखरी तारीख 15 दिसंबर तय की गई है। इसके बाद लेट फीस (Fees) चार्ज की जाएगी।

यह होगी लेट फीस
10 वीं और 12वीं की परीक्षाओं की तारीख़ को लेकर अभी संशय बरकरार, लेकिन परीक्षा फॉर्म भरवाए जाने के बाद माना जा रहा है परीक्षाएं (Examination) तय समय के आसपास ही करवाई जा सकती है। जिसके लिए विद्यार्थियों को 15 दिसंबर तक आवेदन करने होंगे। 15 दिसंबर तक फॉर्म भरने पर 900 रुपये शुल्क ऑनलाइन (Online) जमा कराना होगा। अगर निर्धारित तिथि के बाद परीक्षा फॉर्म भरा जाएगा तो छात्रों को 31 दिसंबर तक उनसे 2900 और 31 जनवरी तक परीक्षा के आवेदन पत्र भरने पर विलंब शुल्क 5900 रुपये वसूला जाएगा। इसके अलावा मंडल की परीक्षा के प्रथम प्रश्न पत्र के 1 माह पूर्व तक आवेदन भरने के लिए विलंब शुल्क 10,900 रुपये देय होगा।

सिलेबस बना हुआ है चुनौती
फिलहाल प्रदेश के स्कूलों (School) में नियमित कक्षाएं अभी लग नहीं पा रही है, इस कारण अभी सिलेबस (Syllabus) पूरा करना भी एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। कई दिनों तक स्कूलों (School) में पढ़ाई (Study) नहीं हुई है, जिस कारण सिलेबस पूरा नहीं हुआ है और अब सिलेबस में कटौती की मांग भी की जा रही है। जिससे छात्रों को कुछ राहत मिल सके। फिलहाल इस विषय पर बोर्ड की ओर से कुछ भी तय नहीं हो सका है। बताया जा रहा है कि आने वाले समय मे इस पर बोर्ड विचार कर सकता है।

यह भी पढ़े…MP School: जल्द खुलेंगे प्रदेश के स्कूल, गाइडलाइन जारी, ये होंगे नियम