Vaccination MahaAbhiyan : MP में एक दिन में सर्वाधिक वैक्सीनेशन का अपना ही रिकार्ड टूटा, 23 लाख टीके लगाए गए

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बुधवार को मध्यप्रदेश (MP) में सभी जिलों में एक साथ टीकाकरण महाअभियान-2 (Vaccination MahaAbhiyan 2) प्रारंभ हुआ। मध्यप्रदेश ने बुधवार को 23 लाख वैक्सीन लगाकर एक दिन में सर्वाधिक वैक्सीनेशन का अपना ही रिकार्ड ब्रेक कर दिया। इससे पहले 21 जून को टीकाकरण महाअभियान-1 में प्रदेश में 18 लाख से अधिक वैक्सीन डोज लगाए गए थे।

MP में अब Online होगी ये सुविधा, केंद्र ने किया मध्यप्रदेश और तेलंगाना का चयन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने जवाहर चौक भोपाल स्थित जैन मंदिर में बनाए गए केन्द्र में टीकाकरण महाअभियान-2 का शुभारंभ किया और आमजन से वैक्सीन लगवाने की अपील की। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर लोगों को वैक्सीन के लिये प्रेरित कर शपथ भी दिलवाई। महाअभियान के पहले दिन वैक्सीनेशन के निर्धारित लक्ष्य से अधिक सफलता अर्जित हुई। एक दिन में 23 लाख लोगों ने वैक्सीन लगाकर देश में अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन और उनके द्वारा मध्यप्रदेश को अतिरिक्त रूप से नि:शुल्क वैक्सीन देने के निर्णय से टीकाकरण महाअभियान-2 भी सफल हुआ है। वैक्सीनेशन के मामले मे मध्यप्रदेश अन्य राज्यों से आगे बना हुआ है।

सीएम ने भोपाल और जबलपुर जिले में टीकाकरण महाअभियान का आगाज करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से प्रदेशवासियों को पूरी तरह से सुरक्षित करने के लिये महाअभियान चलाया गया है। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 को हराने और सभी को सुरक्षित करने के लिये वैक्सीन रामबाण है। सभी लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगे, इसके लिये समाज के सभी वर्गों को महाअभियान से जोड़ा गया है। सभी के प्रयासों से वैक्सीनेशन के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वह काफी उत्साहजनक हैं। इसकी सफलता के पीछे सभी वर्गों का सहयोग शामिल है। उन्होने कहा कि कोरोना अभी गया नहीं है, अत: सतर्कता और सजगता निरन्तर बनाये रखे। कोरोना रूपी संकट ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है। हमारी प्राथमिकता कोरोना पर विजय प्राप्त करना है। कोरोना बहरूपिया है, जो अपना रूप बदलता रहता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने कोरोना काल में अपनों को खोया है, इसलिये हम सभी का यह प्रयास होना चाहिए कि ऐसा समय दोबारा न आये। सभी लोग वैक्सीन लगवा कर कोरोना संक्रमण से सुरक्षित हों।

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकाकरण महाअभियान-2 के पहले दिन 20 लाख लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य रखा गया था। निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करने के लिये प्रदेश के 52 जिलों में 8 हजार से टीकाकरण केन्द्र बनाये गये हैं। सभी केन्द्रों पर उत्सव जैसा माहौल बनाया जाकर टीका लगवाने आये व्यक्ति का स्वागत भी किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मानव जीवन की सुरक्षा के लिये सभी लोग स्व-प्रेरणा से आगे आये और महाअभियान में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। मुख्यमंत्री ने जन-प्रतिनिधियों सहित विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के प्रमुखों, धर्मगुरूओं, साहित्यकारों, बुद्धिजीवियों और गणमान्य नागरिकों का धन्यवाद भी ज्ञापित किया, जिनके प्रयासों ने वैक्सीनेशन कार्य को गति प्रदान की।

टीकाकरण महाअभियान में बुजुर्गों और दिव्यांगों के लिये स्थानीय प्रशासन द्वारा केन्द्र पर लाने और ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था भी की गई। प्रशासन से मिले सहयोग के साथ गर्भवती महिलाओं, बुजुर्ग और दिव्यांगजनों ने वैक्सीनेशन के प्रति जागरूक होकर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये वैक्सीन लगवाई है। अनेक क्षेत्रों में बुजुर्गों और दिव्यांग जनों ने प्रेरक की भूमिका अदा कर लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिये प्रेरित भी किया। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को रोकने के लिये प्रदेश में बनाई गई जिला, ब्लाक एवं ग्राम और वार्ड स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के सदस्यों ने भी महाअभियान-2 में सक्रिय भूमिका निभाई। समिति के सदस्यों ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जन-जागरूकता का काम करते हुए टीकाकरण केन्द्रों पर प्रेरक की भूमिका का निर्वहन भी किया। टीकाकरण महाअभियान में जनता में अपार उत्साह देखने को मिला। सभी टीकाकरण केन्द्रों पर लोगों ने कोरोना वैक्सीन लगवाने में काफी उत्साह के साथ भाग लिया। वैक्सीन लगवाने के बाद वे स्वयं प्रेरक बन कर लोगों को प्रेरित करने लगे।

टीकाकरण महाअभियान-2 के दूसरे दिन 26 अगस्त को विशेष रूप से वैक्सीन की दूसरी डोज पर फोकस किया गया है। अभी तक जिन लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज लगवा ली है और उनकी दूसरी डोज ड्यू है, उन्हें प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन की दूसरा डोज लगाया जाएगा।