मप्र पंचायत चुनाव: जमा होगी निक्षेप राशि, अधिकारियों की नियुक्ति, सेल पुर्नगठित, निर्देश जारी

कार्यालय प्रमुख अपने स्पष्ट अभिमत के साथ प्राप्त आवकाश का आवेदन पत्र जिला प्रमुख के माध्यम से कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन को प्रस्तुत करेंगे।

पंचायत चुनावों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में पंचायत चुनाव (MP PanchayaT Election 2021) में प्रथम चरण में 85 विकासखण्डों की ग्राम पंचायतों में 6 जनवरी 2022 को होगा। नाम निर्देशन पत्र 13 दिसंबर से 20 दिसंबर तक लिये जाएंगे और संवीक्षा 21 दिसम्बर को होगी।23 दिसंबर तक नाम वापस और इसी दिन निर्वाचन प्रतीकों का आवंटन किया जाएगा।इसी कड़ी में राज्य निर्वाचन आयोग ने साफ कहा है कि उम्मीदवारों को नाम निर्देशन- पत्र के साथ निक्षेप राशि भी जमा करनी होगी । वही चुनाव को देखते हुए जिलेवार नोडल और रिटर्निंग अफसरों की नियुक्ति कर दी गई है। अधिकारियों-कर्मचारियों के अवकाश संबंधित निर्देश भी जारी किए गए है। वही जिलों में सेल पुर्नगठित और दल बनाए गए है। 14 दिसंबर को आरक्षण की प्रक्रिया होना है।

यह भी पढ़े.. MP: अधिकारी समेत 3 निलंबित, 3 कर्मचारियों को नोटिस, 3 की वेतन वृद्धि रोकी, लाइसेंस निरस्त

राज्य निर्वाचन आयोग  (state election commission)  सचिव वीएस जामोद ने जानकारी दी है कि पंचायत चुनाव में विभिन्न पदों पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्यों के लिए नाम निर्देशन-पत्र भरने वाले अभ्यर्थी को निक्षेप राशि भी जमा करनी होगी। जिला पंचायत सदस्य के लिए जिला मुख्यालय, जनपद पंचायत सदस्य के लिए विकास खण्ड मुख्यालय और पंच तथा सरपंच पद के लिए विकासखण्ड मुख्यालय और क्लस्टर मुख्यालय पर नाम निर्देशन-पत्र लिये जायेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा ग्राम पंचायतों को समूह-बद्ध कर क्लस्टर बनाया जायेगा। ​जिला पंचायत सदस्य के लिए 8 हजार, जनपद पंचायत सदस्य के लिए 4 हजार, सरपंच के लिए 2 हजार और पंच पद के लिए 400 रूपये की निक्षेप राशि जमा करनी होगी।

उमरिया कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि पंचायत चुनाव आदर्श आचरण लागू हो गई हे। जिसके फल स्वरूप अधिकारियों, कर्मचारियों (Employees-Officers) के समस्त अवकाश निरस्त किया जाकर उक्त अवधि में अधिकारी, कर्मचारियों को मुख्यालय में रहने के निर्देश प्रसारित किए गए है, उक्त आदेश मे आंशिक संशोधन करते हुए कहा गया है कि अधिकारी, कर्मचारी अपना आवेदन पत्र अपने कार्यालय प्रमुख को प्रस्तुत करेंगें। कार्यालय प्रमुख अपने स्पष्ट अभिमत के साथ प्राप्त आवकाश का आवेदन पत्र जिला प्रमुख के माध्यम से कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन को प्रस्तुत करेंगे। यह आदेश तत्काल प्रभावशील हो गया है।

यह भी पढ़े.. शिवराज सरकार की बड़ी तैयारी, जल्द आएगी संशोधित नीति, ड्राफ्ट बनाने के निर्देश

पंचायत चुनाव का निर्वाचन सुचारू रूप से संचालित कराने के उद्देश्य से जबलपुर कलेक्टर (Jabalpur Collector) एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कर्मवीर शर्मा ने स्थानीय निर्वाचन सेल पुनर्गठित किया है। पुनर्गठित निर्वाचन सेल में मुख्य निर्देशक आंगनवाड़ी प्रशिक्षण केन्द्र मनीष शर्मा और तहसीलदार आधारताल राजेश सिंह को विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी निर्वाचन का दायित्व सौंपा गया है। जबकि सहायक प्राध्यापक शासकीय महाविद्यालय पाटन पुनीत मरवाहा को सामग्री तैयार करने, वितरण वापसी व मतगणना का कार्य सौंपा गया है। वहीं स्टेनो टाइपिस्ट मैथ्यू अब्राहम को पत्र प्रारूप तैयार करने और कार्यालय सहायक राहुल मालवीय को निर्वाचन पोर्टल संबंधी कार्य सौंपा गया है।

दल गठित, लापरवाही पर होगी कार्रवाई

शाजापुर कलेक्टर (Shajapur Collector) और जिला निर्वाचन अधिकारी दिनेश जैन द्वारा सम्पत्ति विरूपण अधिनियम एवं आदर्श आचरण संहिता के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए दल गठित किया गया है। जारी आदेश के अनुसार विकासखण्ड स्तरीय दल में संबंधित क्षेत्र के जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों, लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारियों, कृषि उपज मण्डीयों के सचिवों, थाना प्रभारियों, दूरसंचार अनुविभागीय अधिकारी एवं विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी का दल बनाया गया है। वही निर्देश दिए है कि वे अपने क्षेत्राधिकार के शासकीय भवनों, विद्युत एवं टेलिफोन पोल, वृक्षों आदि पर बिना अनुमति के इस प्रकार के पोस्टर अथवा नारे लिखवाए गए अथवा लिखवाए जाते है तो उन्हे तत्काल विलोपित कराने की कार्यवाही करने तथा की गई कार्यवाही की साप्ताहिक रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।

लेनी होगी अनुमति

कटनी अपर कलेक्टर रोमानुस टोप्पो ने जिले के अधिकारियों व कर्मचारियों के अवकाश के संबंध में आदेश जारी किया है। आदेश के तहत इस अवधि में किसी भी अधिकारी, कर्मचारी को अपर जिला मजिस्ट्रेट की पूर्व स्वीकृति के बिना अवकाश स्वीकृत नहीं किये जा सकेंगे और ना ही मुख्यालय छोड़ने की अनुमति प्रदान की जायेगी। पूर्व में भी स्वीकृत किये गये समस्त प्रकार के अवकाश भी निरस्त कर दिये गये हैं।वही समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए है कि इस निर्धारित अवधि में शासकीय विश्राम गृह एवं सर्किट हाउस में किसी भी राजनैतिक दल, अशासकीय व्यक्ति या समूह को किसी प्रकार की राजनैतिक बैठक, जुलूस, चुनाव प्रचार-प्रसार आदि गतिविधियां सम्पन्न करने की अनुमति नहीं दें। शासन द्वारा निर्धारित शुल्क जमा करने पर ही केवल विश्राम के लिए आवंटित किया जा सकेगा। निर्वाचन प्रेक्षक के लिये विश्राम गृह आरक्षित होने पर किसी भी राजनैतिक दल, अभ्यर्थी को आवंटित नहीं किया जायेगा।

जिलेवार अधिकारियों की नियुक्ति

  • रतलाम जिले में पंचायत चुनाव के कामकाज के संचालन के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार पुरुषोत्तम द्वारा विभिन्न अधिकारियों को प्रभारी एवं नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्त किया है। उनके सहयोग के लिए भी अधिकारी, कर्मचारी नियुक्त किए गए हैं।
  • जारी किए गए आदेश के अनुसार आदर्श आचरण संहिता एवं कानून व्यवस्था के लिए अपर कलेक्टर एम.एल. आर्य नोडल अधिकारी रहेंगे। उनके सहयोगी अधिकारियों में जिले के सभी SDM, निगमायुक्त, सभी तहसीलदार आदि सम्मिलित रहेंगे। मतदान, मतगणना एवं अन्य दलों को प्रशिक्षित करने के लिए डिप्टी कलेक्टर सुश्री मनीषा वास्कले प्रभारी अधिकारी नियुक्त की गई हैं। उनके सहयोग के लिए प्राध्यापक डॉ. लक्ष्मण परवाल, रियाज अहमद मंसूरी, डॉ. अभय पाठक तथा एल.एस. चोगड़ नियुक्त किए गए हैं।
  • देवास कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी चंद्रमौली शुक्ला ने चुनाव में आयोग के निर्देशानुसार आवश्‍यक संख्‍या में मतदान दल उपलब्‍ध कराने तथा मतदान दल के गठन, मतदान दलों के प्रशिक्षण के लिए सीईओ जिला पंचायत प्रकाश सिंह चौहान को नोडल अधिकारी नियुक्‍त किया है।
  • अतिरिक्‍त मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी राजेश दीक्षित और पंचायत समन्‍वयक एल पी सिंह को सहायक नोडल अधिकारी बनाया है। कानून व्‍यवस्‍था के लिए अपर कलेक्‍टर महेन्‍द्रसिंह कवचे को नोडल अधिकारी नियुक्‍त किया है। सहायक ग्रेड दो दिनेश वर्मा, रमेश चन्‍द्रावत, सहायक ग्रेड तीन प्रशांत दुबे और अध्‍यापक नूतन हाईस्‍कूल देवास बलराम पंचोली को सहयोगी नियुक्‍त किया है।
  • उज्जैन कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आशीष सिंह ने घट्टिया विकास खण्ड के लिये रिटर्निंग आफिसर तहसीलदार देवकुंवर सोलंकी और 10 सहायक रिटर्निंग आफिसर रहेंगे, जो अलग-अलग क्षेत्रों के पंचायत भवनों में नाम निर्देशन प्राप्त करेंगे।तराना विकास खण्ड के लिये रिटर्निंग आफिसर तहसीलदार दिलीप कुमार वर्मा और 13 सहायक रिटर्निंग आफिसर रहेंगे, जो अलग-अलग क्षेत्रों के पंचायत भवनों में नाम निर्देशन प्राप्त करेंगे।
  • महिदपुर विकास खण्ड के लिये रिटर्निंग आफिसर तहसीलदार विनोद कुमार शर्मा और 15 सहायक रिटर्निंग आफिसर रहेंगे, जो अलग-अलग क्षेत्रों के पंचायत भवनों में नाम निर्देशन प्राप्त करेंगे।बड़नगर विकास खण्ड के लिये रिटर्निंग आफिसर तहसीलदार राधेश्याम पाटीदार और 15 सहायक रिटर्निंग आफिसर रहेंगे, जो अलग-अलग क्षेत्रों के पंचायत भवनों में नाम निर्देशन प्राप्त करेंगे।
  • होशंगाबाद कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने विकासखंड बनखेड़ी के लिए तहसीलदार बनखेड़ी आलोक पारे को, विकासखंड पिपरिया के लिए तहसीलदार पिपरिया राजेश बौरासी को, विकासखंड सोहागपुर के लिए तहसीलदार सोहागपुर पुष्पेन्द्र निगम को, विकासखंड बाबई के लिए प्रभारी तहसीलदार बाबई दिलीप चौरसिया को, विकासखंड होशंगाबाद के लिए तहसीलदार ग्रामीण होशंगाबाद तृप्ती पटेरिया को, विकासखंड केसला के लिए तहसीलदार इटारसी राजीव कहार को एवं विकासखंड सिवनीमालवा के लिए प्रभारी तहसीलदार सिवनीमालवा प्रमेश जैन को रिटर्निंग ऑफिसर पंचायत नियुक्त किया है।