मप्र पंचायत चुनाव: इंतजार की घड़ियां खत्म! सोमवार को हो सकता है महत्वपूर्ण फैसला

अब इंतजार केवल जिला पंचायत अध्यक्षों के आरक्षण का बचा है जिसे लेकर कल महत्वपूर्ण निर्णय के बाद इसका भी निपटारा होने की पूरी उम्मीद है।

पंचायत चुनावों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पिछले ढाई साल से टलते आ रहे पंचायत चुनाव (MP Panchayat Election 2021) को लेकर जल्द बड़ा फैसला हो सकता है।खबर है कि मध्य प्रदेश में पंचायत के तीन स्तरीय चुनावों को लेकर अब इंतजार की घड़ियां खत्म होने को है।22 नवंबर 2021 सोमवार को इस संबंध में महत्वपूर्ण बैठक होने जा रही है जिसमें इस बात का निर्णय किया जाएगा कि पंचायत के चुनाव किन किन तिथियों को कराई जाएं। संभवत सोमवार को इस बात का भी निर्णय हो सकता है कि पंचायती राज के चुनाव कब कराए जाएंगे और आचार संहिता कब से लगाई जा सकती है।

यह भी पढ़े.. Franklin Templeton: सोमवार को जारी होगी 7वीं किस्त, खातों में आएंगे 1,115 करोड़ रुपए

सूत्रों के हवाले मिली खबर के अनुसार राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission) इन चुनावों को इसी साल के अंत तक पूरा करना चाहता है और इसकी व्यापक तैयारीया चुनाव आयोग पहले से ही कर चुका है। अब इंतजार केवल जिला पंचायत अध्यक्षों के आरक्षण का बचा है जिसे लेकर सोमवार महत्वपूर्ण निर्णय के बाद इसका भी निपटारा होने की पूरी उम्मीद है। पंचायती राज्य चुनाव दो चरणों में कराए जाने की उम्मीद है और दोनों चरणों के बीच 10 से 15 दिन का अंतर हो सकता है। पंच और सरपंच के चुनाव बैलेट पेपर से होंगे और इसके अलावा जनपद व जिला पंचायत के सदस्यों का चुनाव ईव्हीएम के माध्यम से होगा। चुनाव आयोग पहले ही राज सरकार को विभिन्न निर्देशों के माध्यम से नौकरशाही में फेरबदल और अन्य व्यवस्थाएं करने के महत्वपूर्ण निर्देश दे चुका है जिसे लेकर जिला स्तर पर तैयारी पूरी हो गई है।

21 नवम्बर को जिला स्तर पर सेक्टर ऑफीसर का प्रशिक्षण

भिण्ड में उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार पंचायत चुनाव 2021 के लिए जिला स्तर पर 21 नवम्बर 2021 को सेक्टर ऑफीसर का जिला पंचायत भिण्ड के सभागार में प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। जिसमें EVM की कमीशनिंग, फंसनिंग एवं निर्वाचन संबंधी मतदान प्रक्रिया का प्रशिक्षण, मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन, लॉ एण्ड ऑडर, कॉडीनेशन एण्ड कम्युनेशन, वल्नेरेविल्टी मैपिंग प्रातः11 बजे से दोपहर 1 बजे तक एवं दोपहर 2 बजे से अपरान्ह 4 बजे तक दिया जाएगा। सभी संबंधित जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स को आदेशित किया गया है कि प्रशिक्षण कार्यक्रम के अनुसार PPT तैयार कर निर्धारित दिनांक व समय तथा प्रशिक्षण स्थल पर प्रशिक्षण देना सुनिश्चित करें।

22 नवंबर को सेंस गतिविधियों के संबंध में बैठक

कटनी में सीईओ जिला पंचायत एवं सह. नोडल अधिकारी सेन्स स्थानीय निवार्चन कटनी जगदीश चन्द्र गोमे ने बताया कि पंचायत चुनाव  2021 में आयोजित होने वाली सेन्स गतिविधियों के संबंध में बैठक का आयोजन 22 नवम्बर को होगा। यह बैठक दोपहर 2 बजे से जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित होगी। इस बैठक में संबंधित विभागों के अधिकारियों को अनिवार्यतः उपस्थित रहने के लिये कहा गया है।

चुनाव से पहले पढ़े महत्वपूर्ण बिन्दु

  • राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव के लिये ऑनलाईन नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने की प्रक्रिया के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। प्राप्त निर्देश अनुसार, जिला एवं जनपद पंचायत सदस्य पद के अभ्यर्थियों को ऑनलाईन नाम निर्देशन ‘‘ऑलिन’’ एप्लीकेशन के माध्यम से भरने की अतिरिक्त सुविधा प्रदान की गई हैं। यह सुविधा अनिवार्य नही हैं अभ्यर्थी स्वेच्छा से इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
  • ऑनलाईन नाम निर्देशन भरते समय अभ्यर्थी के पास मोबाईल फोन, चल-अचल संपत्ति का विवरण, आपराधिक प्रकरणों के सबंध में अभ्यर्थी का शपथ पत्र, अभ्यर्थी और प्रस्तावक का मतदाता सूची में नाम दर्ज होने से संबंधित जानकारी अर्थात ग्राम पंचायत एवं खण्ड का नाम, वार्ड क्रमांक और मतदाता सूची का क्रमांक तथा प्रतिभूति निक्षेप राशि जमा करने की रसीद इत्यादि होना चाहिए।
  • निजी कम्प्यूटर अथवा लैपटॉप पर ऑनलाईन नाम निर्देशन पत्र भरे जा सकते हैं। इसके अलावा MP online कियोस्क पर तथा लोक सेवा केन्द्रों पर सेवा शुल्क 35 रूपये प्रति नॉमीनेशन फार्म संलग्नक सहित एवं 5 रूपये प्रति प्रिंट आऊट पर कर सकते हैं तथा RO कार्यालय में स्थापित सुविधा केन्द्र पर यह निःशुल्क किया जा सकता हैं।
  •  ऑनलाईन नाम निर्देशन पत्र जमा करने का समय प्रात: 10:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक होगा। वहीं नाम निर्देशन की अंतिम तारीख को प्रात: 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक यह सुविधा उपलब्ध होगी। नाम निर्देशन पत्र भरने के लिए निजी कम्प्यूटर या लेपटॉप पर MP Online कियोस्क, लोकसेवा केन्द्र और रिटर्निंग ऑफिसर कार्यालय में स्थापित सुविधा केन्द्र पर जमा किए जा सकेंगे।