MP School: आज से खुल रहे हैं स्कूल, ऐसे लगेंगी कक्षाएं, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

स्कूल शिक्षा विभाग के आदेश के मुताबित, 11वीं की क्लास सोमवार व गुरुवार और 12वीं की क्लास मंगलवार-शुक्रवार को लगेंगी।

SCHOOL

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। करीब डेढ़ साल के बाद मध्य प्रदेश में आज 26 जुलाई 2021 से स्कूल खुल रहे रहे हैं। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग (MP School Education Department) ने प्रदेश के सभी शासकीय और अशासकीय विद्यालयों (Government -Private School) में शिक्षण सत्र 2021-22 के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। आज से 11वीं से 12वीं तक की कक्षाएं प्रारंभ एवं संचालित की जाएंगी, इसके बाद 5 अगस्त से 9वीं और 10वीं की कक्षाएं लगेंगी। स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति 50 प्रतिशत रहेगी। हालांकि जिले में स्कूल खोलने है या नहीं इसका फैसला लेने का अधिकार क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी को दिया गया है।

यह भी पढ़े.. MP में केंद्र के समान DA-वेतनवृद्धि की मांग तेज, कर्मचारी बोले- सरकार ने 500 करोड़ बचाए

स्कूल शिक्षा विभाग के आदेश के मुताबित, 11वीं की क्लास सोमवार व गुरुवार और 12वीं की क्लास मंगलवार-शुक्रवार को लगेंगी। वहीं, 9वीं की क्लास शनिवार और 10वीं की क्लास बुधवार को लगेगी। स्कूलों में प्रार्थना सभा व स्वीमिंग पूल समेत अन्य सामूहिक गतिविधियां बंद रहेंगी। स्कूल बसों में 50% क्षमता के साथ ही चलाया जा सकेगा। 11वीं-12वीं के हॉस्टल 26 जुलाई से खोले जा सकेंगे, लेकिन हॉस्टल के पूरे स्टाफ का वैक्सीनेशन अनिवार्य रहेगा। कक्षा 12वीं के लिये कोचिंग सेन्टर 5 अगस्त से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुल सकेंगे। हर जिले में प्रशासन हॉस्टल की जांच करेगा कि वहां कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो रहा है या नहीं?

दरअसल, बीते दिनों मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Shivraj Singh Chauhan) का स्कूल खोलने (MP School Reopen) ने कहा था कि 26 जुलाई से कक्षा 11वीं और 12वीं के लिए स्कूल आरंभ करने के संबंध में अंतिम निर्णय क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियाँ लेंगी। जिन जिलों में कोरोना वायरस का एक भी प्रकरण नहीं है, वहाँ शाला संचालन आरंभ किया जा सकता है। परंतु इस संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी, जिले के प्रभारी मंत्री, जिला कलेक्टर आपसी विचार-विमर्श कर लोगों को विश्वास में लेकर शालाओं का संचालन आरंभ करें।

यह भी पढ़े.. MP में स्कूल-कॉलेज खुलने से पहले शिक्षकों को लेकर बड़ा फैसला, निर्देश जारी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा था कि बिना अभिभावकों की अनुमति के बच्चों को स्कूल नहीं बुलाएं। 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कक्षा 11वीं-12वीं का संचालन 26 जुलाई से आरंभ किया जाए। आरंभ में प्रयोगात्मक रूप से एक-एक दिन शाला लगाई जाए। अगस्त माह के पहले सप्ताह से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ 2-2 दिन कक्षाएँ (Classes) लगाई जाएँ। कक्षा के 50 प्रतिशत विद्यार्थी पहले 2 दिन और शेष 50 प्रतिशत अगले दो दिन आएँ। इस प्रकार एक सप्ताह में 4 दिन ही स्कूल लगेंगे। कक्षा में एक कुर्सी छोड़कर बैठना, मास्क लगाना, सेनेटाइजर का उपयोग और कोरोना अनुकूल व्यवहार का शत-प्रतिशत पालन आवश्यक होगा।

26 से 31 जुलाई तक शिक्षकों का टीकाकरण

स्कूल खोलने के साथ ही 26 जुलाई से मध्य प्रदेश में उच्च शिक्षा (Higher Education Department) एवं स्कूल शिक्षा विभाग के अन्तर्गत आने वाले सभी महाविद्यालयों एवं विद्यालयों (Student) में कार्यरत शिक्षकों (Teachers) और कर्मचारियों का कोविड-19 टीकाकरण एक अभियान के रूप में किया जायेगा। इसके लिये मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने सभी कलेक्टर्स (Collectors) और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित किया है कि 26 से 31 जुलाई में यह अभियान संचालित किया जाए। इसमें आदिम जाति कल्याण विभाग के विद्यालय सहित सभी शासकीय और अशासकीय महाविद्यालयों एवं विद्यालयों के शिक्षकों एवं कर्मचारियों को कोविड-19 टीके के प्रथम और द्वितीय डोज़ लगाया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।

इन नियमों का करना होगा पालन

  • कक्षा 11 तथा 12वीं के लिए 26 जुलाई से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ शालाओं का संचालन आरंभ किया जाएगा।
  • शालाएँ सप्ताह में चार दिन लगेंगी।
  • दो दिन 50 प्रतिशत क्षमता का एक बैच आएगा।
  • अगले दो दिन शेष 50 प्रतिशत विद्यार्थियों का दूसरा बैच शाला आएगा।
  • कक्षा में एक कुर्सी छोड़कर बैठना, मास्क लगाना, सेनेटाइजर का उपयोग और कोरोना अनुकूल व्यवहार का शत-प्रतिशत पालन आवश्यक होगा।
  •  बिना पालक की अनुमति के बच्चों को स्कूल नहीं बुलाए।
  • यदि विद्यालय द्वारा परिवहन सुविधा का प्रबंधन किया जा रहा है तो, बसों, अन्य परिवहन वाहनों में समुचित भौतिक दूरी सुनिश्चित करते हुए 50 फीसद क्षमता से चलाई जाएंगी।
  • छात्र पेरेंट्स के अनुमति पत्र स्कूल में जमा करने के बाद ही क्लास अटेंड कर पाएंगे।
  • सोशल डिस्टेसिंग के पालन के साथ ही सैनेटाइज करने की व्यवस्था भी कराना जरूरी है।
  • बसों में भी सिर्फ 50% क्षमता में ही बच्चों को लाया ले जाया जा सकेगा।
  • छात्र के बीमार होने पर उसके इलाज से लेकर सूचना देने तक की जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन की।

MP School: आज से खुल रहे हैं स्कूल, ऐसे लगेंगी कक्षाएं, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

MP School: आज से खुल रहे हैं स्कूल, ऐसे लगेंगी कक्षाएं, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

MP School: आज से खुल रहे हैं स्कूल, ऐसे लगेंगी कक्षाएं, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

MP School: आज से खुल रहे हैं स्कूल, ऐसे लगेंगी कक्षाएं, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

MP School: आज से खुल रहे हैं स्कूल, ऐसे लगेंगी कक्षाएं, कलेक्टर ने जारी किए आदेश