MPPSC

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन (Madhya Pradesh Public Service Commission-MPPSC) द्वारा 21 से 26 मार्च तक आयोजित होने वाली राज्य सेवा परीक्षा 2019 (State Service Exam 2019)  की मुख्य परीक्षा से पहले एक काम की खबर है। परीक्षा के लिए इंदौर (Indore) में 13 केंद्र बनाए गए हैं।इधर छात्रों की याचिका खारिज करने के बाद MPPSC प्रारंभिक परीक्षा 2019 (MPPSC 2019 Prelims)  में आरक्षण (Reservation) प्रावधानों का पालन ना होने के सभी मामले की15 मार्च को जबलपुर हाई कोर्ट (Jabalpur High Court) में एक साथ सुनवाई होगी।

यह भी पढ़े.. MPPSC : जबलपुर हाईकोर्ट ने खारिज की छात्रों की याचिका, 15 मार्च को ही होगी सुनवाई

वही कोरोना काल (Corona Crisis) के चलते छात्र (Student) नए चार सेंटरों रतलाम, सतना, शहडोल और छिंदवाड़ा में भी परीक्षा दे सकते है।इसके पहले  इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर संभागीय मुख्यालयों पर ही परीक्षा आयोजित की जाती रही है।इस बार मुख्य परीक्षा (MPPSC Mains Exam) ऑनलाइन (Online) की बजाय ऑफलाइन (Offline) ली जाएगी होगी। इसके लिए 10 मार्च से 21 मार्च (March 2021) तक प्रवेश पत्र जारी किए जाएंगे। मुख्य परीक्षा के सफल आवेदकों को चयन के अंतिम दौर में इंटरव्यू (Interview) में शामिल किया जाएगा।

पीएससी ने 12 जनवरी 2020 को प्री परीक्षा आयोजित की थी। परीक्षा 21 से 26 मार्च तक आयोजित की जाएगी। इन तारीखों में 6 प्रश्नपत्र आयोजित होंगे।वही  MPPSC प्रारंभिक परीक्षा 2019 (MPPSC 2019 Prelims)  में आरक्षण (Reservation) प्रावधानों का पालन ना होने के सभी मामले में 15 मार्च को जबलपुर हाई कोर्ट (Jabalpur High Court) में  सुनवाई की जाएगी।हाईकोर्ट ने राज्य मप्र लोक सेवा आयोग (MP Public Service Commission-MPPSC) और शिवराज सरकार (Shivraj Government) को 15 मार्च तक जवाब देने की मोहलत दी है।

खास बात इस बार पीएससी ने राज्यसेवा की मुख्य परीक्षा के लिए उत्तर पुस्तिका का फॉर्मेट बदलते हुए प्रश्न और उत्तर पुस्तिका को एक ही कर दिया गया है। इसमें एक कॉपी दी जाएगी जिसमें प्रश्न छपे होंगे उनके नीचे उत्तर लिखने की खाली जगह दी जाएगी। प्रश्नपत्र में तीन तरह के प्रश्न होंगे। तीन अंकों के अतिलघुत्तरीय प्रश्न, छह अंक वाले लघुउत्तरीय प्रश्न और 15 अंक वाले दीर्घ उत्तरीय प्रश्न। अति लघुउत्तरीय प्रश्न के जवाब 15 से 20 शब्दों में देना है। लघु उत्तरीय प्रश्न के उत्तर 100 शब्द में लिखना है, जबकि दीर्घ उत्तरीय प्रश्न के दवाब 300 शब्दों में लिखना होंगे।

इंदौर में इन सेंटरों पर दे सकते है परीक्षा

इनमें होलकर साइंस कॉलेज, जीएसीसी, ओल्ड जीडीसी, न्यू जीडीसी, गवर्नमेंट लॉ कॉलेज, मालवा नवीन गर्ल्स हायर सेकंडरी स्कूल, बंगाली स्कूल, महाराजा शिवाजी राव स्कूल, यूनिवर्सिटी का आईईटी, सराफा विद्या निकेतन, मालव लक्ष्मण सिंह गौड़ हायर सेकंडरी स्कूल, क्लॉथ मार्केट वैष्णव बाल मंदिर, होलकर साइंस कॉलेज एकेडमिक ब्लॉक फर्स्ट फ्लोर शामिल हैं।

पहली बार इन 8 सेंटरों पर होगी परीक्षा

इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर संभागीय मुख्यालयों पर ही परीक्षा सेंटर बनाए जाते थे, लेकिन अब रतलाम, सतना, शहडोल और छिंदवाड़ा में भी सेंटर बनाए जाएंगे। अब कुल 8 सेंटर बनाए जाएंगे।