नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान- पूरे MP में अलर्ट जारी, संदिग्ध गतिविधि पर होगी कार्रवाई

पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के आए दिन रंग बदलने और बदलते बयानों पर  शायराने अंदाज में तंज कसते हुए कहा कि देखकर मौका वह बदलते हैं मिजाज , रिश्ता सबसे है पर वास्ता किसी से नहीं।

नरोत्तम मिश्रा
Dr.Narottam Mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 15 अगस्त को लेकर मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा(Home Minister Dr Narottam Mishra) का बड़ा बयान सामने आया है।नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि स्वतंत्रता दिवस पर केंद्र सरकार (Central Government) की गाइडलाइन के अनुसार पूरे प्रदेश (Madhya Pradesh) में अलर्ट जारी किया गया है।किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधि होने पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े.. सरकारी नौकरी: यहां 588 पदों पर निकली है भर्ती, सैलरी 1.80 लाख तक, जल्द करें अप्लाई

गृह मंत्री नरोत्तम डॉ. मिश्रा ने भारत बदनाम’ की सोच रखने वाले कमलनाथ जी कृपा करके राष्ट्र के सम्मान और स्वाभिमान से जुड़े #IndependenceDay पर राजनीति नहीं कीजिए। असल में कमलनाथ (Kamal Nath) जी प्रदेशवासियों को संबोधित करने का दिखावा कर अपनी दबी हुई इच्छाएं पूरी कर रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के आए दिन रंग बदलने और बदलते बयानों पर  शायराने अंदाज में तंज कसते हुए कहा कि देखकर मौका वह बदलते हैं मिजाज , रिश्ता सबसे है पर वास्ता किसी से नहीं।

यह भी पढ़े.. Gwalior News: क्रेन हादसे से आक्रोशित युवक ने प्रभारी आयुक्त को मारा चांटा, गिरफ्तार

वही पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह  (Digvijay Singh)  की बेटे जयवर्धन सिंह (Jaivardhan Singh)  को शाबाशी पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बाप तो बेटे को गलती करने पर भी शाबाशी देता है। अच्छा होता कि थोड़ी सी तारीफ़ युवक कांग्रेस (Youth Congress) और विक्रांत भूरिया की भी कर देते। ग्वालियर चंबल के दिग्विजय सिंह के दौरे पर कहा कि जो कुछ नहीं है वह जा रहे हैं , जिन्हें जाना चाहिए वे नहीं जा रहे हैं। बाढ़ अब नहीं बची नहीं है, सिर्फ सियापा करने के लिए जा रहे हैं। बड़ी-बड़ी संस्थाएं है कांग्रेस की और कुछ नहीं तो कम से कम अनाज ही बाँट दें प्रभावितों को अच्छा लगेगा।

 राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि #Twitter के मामले पर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ‘चोरी और सीनाजोरी’ जैसी बात कर रहे हैं।दुष्कर्म पीड़िता की पहचान उजागर करना गैर-कानूनी है,उनको इतनी समझ होनी ही चाहिए। अपनी गलती स्वीकार कर माफी मांगनी चाहिए। इसे राजनीतिक मुद्दा बनाना राहुल जी के ‘बालहठ’ को दिखाता है।अतृप्त आत्माओं की सुसुप्त इच्छाएं यदा-कदा हिलोरें मारती है जिनका कॉन्सेप्ट ही बदनाम भारत का हो उनके बारे में कुछ कहना ठीक नहीं।