Women Trafficking: मध्यप्रदेश से 2 महिला की तस्करी कर ले गए राजस्थान, पुलिस ने किया गिरोह का पर्दाफाश

आरोपी एक होटल (Hotel) का मैनेजर (Manager) है। जो महिलाओं को काम दिलाने के लालच से राजस्थान (Rajasthan) ले गया और वहां जाकर एक महिला को 2 लाख 80 हजार में बेच दिया। लेकिन, दूसरी महिला के सांवले रंग ने उसे इस से बचा लिया।

molestation-four-incidents-in-24-hours

जबलपुर, संदीप कुमार। महिलाओं को तस्करी (Women trafficking) करने वाले गिरोह का आज जबलपुर पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पकड़े गए गिरोह में दो महिलाओं सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी एक होटल(Hotel) में मैनेजर (Manager) का काम किया करता था और यहां से महिलाओं को अच्छा काम का लालच देकर राजस्थान(Rajasthan) ले जाता था। फिर मुँह मांगे दाम पर वहां बेच दिया करता था। ग्वारीघाट और मदनमहल पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए महिला तस्करी के आरोप में अनिल बर्मन सहित दो महिलाओं को गिरफ्तार किया है। जबकि राजस्थान निवासी दो आरोपी अभी फरार बताए जा रहे है।

ये भी पढे़- Indore News: मास्क नहीं लगाने पर प्रशासन की सख्ती, एक हजार लोगों पर कार्रवाई

आरोपी दो महिलाओं को ले गए थे राजस्थान के कोटा
जानकारी के मुताबिक राजस्थान में पुरुषों को विवाह के लिए महिलाओं की कमी है। लिहाजा इसी को देखते हुए जबलपुर निवासी अनिल बर्मन दो महिला को अपने साथ काम का झांसा देकर कोटा राजस्थान ले गया जहाँ सुरेश सिंह के माध्यम से जमुना शंकर को एक महिला को दो लाख 80 हजार रु में बेच दिया। महिला को खरीदने वाला व्यक्ति उसे लेकर बूंदी चला गया जहां दिन भर उससे काम करवाता और रोजाना रात को उसके साथ दुष्कर्म किया करता।

ये भी पढ़े- Entertainment News: विवादों के घेरे में ‘बॉम्बे बेगम्स’, क्या रुक जाएगी स्ट्रीमिंग?

एएसपी गोपाल खांडेल ने बताया की मूलतः रीवा जिले के मूऊगंज की रहने वाली महिला मदनमहल में रहकर एक होटल में खाना बनाने का काम करती थी उसे और ग्वारीघाट निवासी महिला को अनिल अपनी दोनों महिला साथी के साथ राजस्थान कोटा सुरेश सिंह के पास ले गया जहां दोनो महिलाओं का सौदा किया गया चूंकि एक महिला को जमुना शंकर ने दो लाख 80 हजार रु में खरीद लिया जबकि दूसरी महिला को सांवला होने के चलते वापस ले आया गया।

अनिल ज्योति और संतोषी के साथ महिला वापस जबलपुर आ गई और अपने घर मे रहने लगी इसी बीच 2 लाख 80 हजार रु में जिस महिला को जमुना शंकर ने खरीदा था वह भी किसी तरह वहाँ से भागने में कामयाब हुई और फिर जबलपुर आकर पूरी आपबीती पुलिस को बताई।
करीब 40 दिन बाद राजस्थान कोटा से भास्कर जबलपुर आई महिला ने अपने साथ हुई आपबीती की कहानी मदन महल थाना पुलिस को बताई, जिसके बाद ग्वारीघाट थाना पुलिस के साथ मिलकर मदनमहल पुलिस ने महिला की निशानदेही पर अनिल बर्मन, ज्योति और संतोषी को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। आरोपियों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि राजस्थान निवासी सुरेश सिंह ने उन्हें 2,80000 में से 50,000 रु दिए थे।

जल्द ही राजस्थान जाएगी जबलपुर पुलिस
महिला तस्करी से जुड़े आरोप में जबलपुर पुलिस ने जहां अनिल बर्मन, ज्योति और संतोषी मराठा को गिरफ्तार कर लिया है तो वहीं दो अन्य आरोपी सुरेश सिंह और जमुना शंकर को गिरफ्तार करने के लिए जल्द ही जबलपुर पुलिस राजस्थान कोटा जाएगी, कहा जा सकता है कि महिला तस्करी से जुड़े मामले में पुलिस को आज एक अहम कामयाबी मिली है।