मप्र में रिकवरी रेट 86.10%, सामने आया सीएम शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि समन्वित प्रयासों से कोरोना की पॉजिटिविटी दर लगातार कम हो रही है और रिकवरी दर बढ़ रही है

madhya pradesh
Shivraj Singh Chauhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में पिछले 24 घंटे में 7016 नए केस सामने आए है और 79 लोगों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।इसी के साथ मप्र में एक्टिव केसों की संख्या 94652 हो गई है, इसी के चलते भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर समेत एक दर्जन से ज्यादा जिलों में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) को आगे बढ़ा दिया गया है।इसी बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामने आया है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: Tauktae ने पकड़ी रफ्तार, मप्र के इन संभागों में बारिश के आसार

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि समन्वित प्रयासों से कोरोना की पॉजिटिविटी दर लगातार कम हो रही है और रिकवरी दर बढ़ रही है। प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट आज घटकर 10.68 प्रतिशत और रिकवरी रेट 86.10 प्रतिशत हो गया है। प्रदेश के 50 जिलों में पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना में रिकवरी के प्रकरण अधिक हैं।कोरोना से निपटने के लिये जो रणनीति अपनाई है, उसे अमल में लाया जाकर जन-सहयोग भी जुटाया गया है। जिला स्तर से ग्राम स्तर पर सक्रिय क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों के साथ कोरोना वॉलेंटियर्स भी पूरी लगन से कार्य कर रहे हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये पिछले एक माह में प्रतिदिन किये जा रहे कोरोना टेस्टिंग की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी की जा रही है। वर्तमान में 65 हजार से अधिक टेस्ट किये जा रहे हैं। रविवार 16 मई को 66 हजार 517 टेस्ट किये गए। प्रदेश में प्रतिदिन आ रहे नये कोरोना प्रकरणों की तुलना में मरीजों के रिकवर होने की संख्या ज्यादा है। शुक्रवार 14 मई को रिकवरी रेट 84.47 प्रतिशत, 15 मई को रिकवरी रेट 85.24 प्रतिशत रहा, जो आज 16 मई को घट कर 86.10 प्रतिशत हो गई है।

यह भी पढ़े.. मप्र में सख्ती: इंदौर-उज्जैन समेत इन जिलों मे बढ़ा कोरोना कर्फ्यू, पहले से मिली थोड़ी छूट

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि समुचित प्रबंधन, प्रयासों एवं चिकित्सकीय सुविधाओं की बढ़ोत्तरी से प्रतिदिन स्वस्थ और संक्रमण मुक्त होने वालों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। प्रदेश में एक दिन में जितने लोग स्वस्थ हुए हैं, उनमें से 76.3 प्रतिशत ऐसे मरीज हैं जो होम आइसोलेशन में और 4.8 प्रतिशत ऐसे मरीज हैं जो कोविड केयर सेंटर में थे। इस प्रकार 81.1 प्रतिशत मरीज ऐसे हैं जो अस्पताल जाये बिना होम आइसोलेशन और कोविड केयर सेंटर में ही स्वस्थ हो रहे हैं। शेष 18.9 प्रतिशत मरीज अस्पतालों से संक्रमण मुक्त होकर सकुशल अपने घर पहुँचे हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोविड-19 उपचार से संबंधित निजी चिकित्सालयों में कोविड उपचार से संबंधित प्रोटोकाल एवं मापदंडों के उल्लघन करने वाले चिकित्सालयों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जा रही है। अभी तक 228 प्रकरणों में 87 लाख 45 हजार रूपये का जुर्माना, 48 प्रकरणों में नोटिस और 53 प्रकरणों में एफआईआर पंजीकृत करवाई गई और 112 व्यक्तियों को राशि वापस करवाते हुए राहत प्रदान की गई।

गौरतलब है कि प्रदेश के 7 जिलों में ही अब 200 से अधिक नए प्रकरण आए हैं। इंदौर में 1487, भोपाल में 982, जबलपुर में 452, ग्वालियर में 387, उज्जैन में 250, रतलाम में 244 एवं सागर जिले में 220 नए प्रकरण आए हैं।प्रदेश के 9 जिलों छिंदवाड़ा, बड़वानी, भिंड, गुना, अशोकनगर, झाबुआ, खंडवा, बुरहानपुर, अलीराजपुर का साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत व उससे कम है।