MPPSC : उम्मीदवारों के लिए ताजा अपडेट, आयोग ने जारी की कैंडिडेट रिजेक्शन लिस्ट, 10 दिन में पेश कर सकते है आपत्ति, 193 पदों पर होनी है भर्ती

MPPSC Exam 2024

MPPSC Recruitment 2023 : मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग के उम्मीदवारों के लिए ताजा अपडेट है। आयोग ने दंत शल्य चिकित्सक चयन परीक्षा 2022 (MPPSC Dental surgeon Recruitment 2022) के उम्मीदवारों की उम्मीदवारी निरस्त किए जाने के संबंध में एक सूचना जारी की है। उम्मीदवार 10 दिन में आपत्ति पेश कर सकते है। उम्मीदवार MPPSC की आधिकारिक वेबसाइट mppsc.mp.gov.in पर विजिट अधिक जानकारी देख सकते है।

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा दंत शल्य चिकित्सक चयन परीक्षा 2022 प्रक्रिया के अंतिम चरण में उम्मीदवारों की उम्मीदवारी निरस्त किए जाने की सूचना जारी की है। निरस्त किए गए उम्मीदवारों की लिस्ट भी जारी कर दी गई है।जिन आवेदकों के अभिलेख अंतिम तिथि तक प्राप्त नहीं होंगे उनके विषय में यह माना जाएगा कि वे साक्षात्कार में भाग नहीं लेना चाह रहे हैं, उनकी उम्मीदवारी निरस्त कर आयोग द्वारा नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी । इसके तहत 193 पदों पर भर्ती की जाएगी।

10 दिन में पेश कर सकते है आपत्ति

दन्त शल्य चिकित्सक परीक्षा-2022 हेतु उम्मीदवारी निरस्त किये गये उक्त आवेदकों को निर्देशानुसार सूचित किया जाता है कि पद की उम्मीद्वारी निरस्त किये जाने के संबंध में यदि कोई आवेदक आपत्ति अभ्यावेदन प्रस्तुत करना चाहते है तो विज्ञप्ति जारी होने की तिथि से 10 दिवस की अवधि में आपत्ति अभ्यावेदन आयोग के समक्ष प्रस्तुत कर सकते हैं । आयोग द्वारा निर्धारित तिथि के पश्चात्‌ प्राप्त आवेदकों से आपत्ति अभ्यावेदन बिना विचार किए नस्तीबद्व किये जाएँगे ।

जिन उम्मीदवारों की उम्मीदवारी निरस्त की गई है उनके नाम इस प्रकार हैं।

  1. देवेन पारीक- अभिलेख प्राप्त नहीं।
  2. अर्चना पाटीदार- अभिलेख प्राप्त नहीं।
  3. गौरव भार्गव- अभिलेख प्राप्त नहीं।

इन उम्मीदवारों का मध्यप्रदेश दंत चिकित्सा परिषद का स्थाई पंजीयन प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि के पश्चात का होने के कारण उम्मीदवारी निरस्त की गई।

  1. राहुल विश्नोई
  2. मोहम्मद जावेद खान
  3. सुदीप्ति सोनी

 

https://mppsc.mp.gov.in/uploads/advertisement/DS_2022_Candidature_Rejection_Info_29_04_2023.pdf


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News