Dream Astrology: सपने में पहाड़ टूटने का होता है ये मतलब, जानें शुभ है या अशुभ?

स्वप्न शास्त्र में हर एक सपने का अपना अलग-अलग महत्व होता है। तो चलिए आज का आर्टिकल में हम आपको पहाड़ का नजर आना शुभ है या अशुभ यह बताएंगे। आइए जानते हैं विस्तार से...

Dream Astrology : रात में सोने के बाद अक्सर लोग थकान के कारण गहरी नींद में चले जाते हैं। इस दौरान वह दूसरी दुनिया की सैर कर रहे होते हैं, जिसे सपनों की दुनिया कहते हैं। यहां पर खुद का कोई बस नहीं चलता। वह कभी खुद को उड़ते हुए देखते हैं, तो कभी खुद को दौड़ते भागते हुए देखते हैं। कुछ सपने अच्छे होते हैं, तो कुछ सपने काफी बुरे होते हैं। स्वप्न शास्त्र में हर एक सपने का अपना अलग-अलग महत्व होता है। तो चलिए आज का आर्टिकल में हम आपको पहाड़ का नजर आना शुभ है या अशुभ यह बताएंगे। आइए जानते हैं विस्तार से…

Dream Astrology: सपने में पहाड़ टूटने का होता है ये मतलब, जानें शुभ है या अशुभ?

पढ़ें Dream Astrology

  • अगर आप खुद को सपने में पहाड़ पर से उतरते हुए देखते हैं, तो इसका अर्थ है कि कारोबार में मंदी आने वाली है और आपका बिजनेस चौपट हो सकता है।
  • स्वप्न शास्त्र के अनुसार, अगर आप खुद को पहाड़ पर चढ़ते हुए देखते हैं, तो इसका अर्थ है कि आपको हर काम में मनचाही सफलता मिल सकता है।
  • अगर सपने में आप खुद को पहाड़ से फिसलती या गिरते हुए देखते हैं, तो यह सावधानी का संकेत माना जाता है। स्वप्न शास्त्र के अनुसार, यह जीवन में आने वाली परेशानियों का संकेत माना जाता है।
  • वही, सपने में अगर आप पहाड़ का टूटा हुआ देखते हैं, तो यह आर्थिक नुकसान का संकेत माना जाता है। स्वप्न शास्त्र में इसका अर्थ बताया गया है कि आपको धन के लेन-देन में सावधानी बरतने की जरूरत है।

(Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। MP Breaking News किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।)


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है।पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News