Papaya Peel Uses: पपीता का छिलका फेंके नहीं करें इस्तेमाल, सुंदरता से लेकर सफाई तक 4 कमाल के फायदे

Papaya Peel Uses: अक्सर हम पपीता खाकर उसके छिलके को फेंक देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह छिलका कई कामों में आ सकता है? जी हाँ, पपीते का छिलका विभिन्न स्वास्थ्य और घरेलू उपयोगों के लिए अद्भुत गुणों से भरपूर होता है।

भावना चौबे
Published on -
papaya

Papaya Peel Uses: पपीता तो सेहत के लिए फायदेमंद होता ही है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आप जिस छिलके को फेंक देते हैं, वो भी कमाल का खजाना है? जी हां, पपीते का छिलका कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जो सिर्फ आपके शरीर को नहीं, बल्कि आपकी त्वचा और बालों के लिए भी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। अक्सर महिलाएं पपीते के छिलके का इस्तेमाल रूखी त्वचा और काले दाग-धब्बों से निजात पाने के लिए करती ही हैं, लेकिन इसके फायदे यहीं तक सीमित नहीं हैं। पपीते के छिलके का इस्तेमाल त्वचा को निखारने से लेकर बालों को मजबूत बनाने और घरेलू कामों को आसान बनाने तक, कई तरह से किया जा सकता है। आज हम आपको इस लेख के द्वारा बताएंगे की पपीते के छिलके के क्या क्या इस्तेमाल किए जा सकते हैं, तो चलिए जानते हैं।

सुंदरता से लेकर सफाई तक 4 कमाल के फायदे

त्वचा और बालों के लिए ऐसे करें इस्तेमाल

आप पपीते के छिलके को पीसकर दही या शहद के साथ मिलाकर फेस पैक बना सकते हैं। ये ना सिर्फ आपकी त्वचा को चमकदार और मुलायम बनाएगा, बल्कि मुंहासों और दाग-धब्बों को भी कम करने में मदद करेगा। वहीं, अगर आपके बाल रूखे और बेजान हो गए हैं, तो सूखे हुए पपीते के छिलके को पीसकर पाउडर बना लें। इस पाउडर को पानी या गुलाब जल में मिलाकर चेहरे पर स्क्रब की तरह इस्तेमाल करें। ये मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने और रक्त संचार को बढ़ाने में मदद करेगा। बालों के लिए भी पपीते का छिलका किसी वरदान से कम नहीं है। आप इसका हेयर मास्क बनाकर या फिर बालों को धोने के बाद इसके पानी से रिन्स कर सकते हैं। इससे आपके बाल मजबूत बनेंगे, रूखापन दूर होगा और डैंड्रफ की समस्या भी कम हो जाएगी।

मच्छर को भागने के लिए

पपीते के फायदे तो यहीं खत्म नहीं होते। इसका छिलका आपके किचन के काम भी आसान बना सकता है। मच्छर भगाने के लिए आप पपीते के छिलके को जला सकते हैं, जिसका धुआं मच्छरों को दूर भगाने में कारगर साबित होगा। इतना ही नहीं, जूतों पर लगे दागों को साफ करने के लिए भी आप पपीते के छिलके के अंदरूनी हिस्से का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपके जूते चमक उठेंगे। और हां, अगर आपके घर में चांदी के बर्तन हैं और वो काले पड़ गए हैं, तो घबराने की जरूरत नहीं है। पपीते के छिलके के अंदरूनी हिस्से से इन्हें रगड़ें, ये आपके चांदी के बर्तनों को आसानी से चमका देगा।

गार्डनिंग में करें इस्तेमाल

पपीता के छिलके को फेंकने की जल्दी न करें। इसे खाद में बदलें। पपीते के छिलकों से प्राकृतिक खाद बनाना आसान है और पर्यावरण के अनुकूल भी। सूखे या कटे हुए छिलकों को सूखी पत्तियों और घास की कटाई के साथ मिलाएं। गड्ढा खोदकर परतों में डालें, हल्का गीला करें और कुछ महीने ढककर छोड़ दें। यह खाद मिट्टी को पोषित करती है, पौधों की वृद्धि बढ़ाती है और रासायनिक उर्वरकों का बेहतर विकल्प है। तो, अगली बार पपीता काटते समय, छिलकों को कचरेदान में न भेजें, बल्कि उन्हें अपने बगीचे के लिए फायदेमंद खाद में बदल दें।

बर्तनों की चिकनाहट करें दूर

पपीते के छिलके से बर्तनों की चिकनाहट आसानी से दूर करें। धोए हुए पपीते के छिलके को सुखा लें या छोटे टुकड़ों में काट लें। गर्म पानी में थोड़ा सा साबुन डालें और फिर इस छिलके से बर्तन रगड़ें। तेल की चिकनाहट चुटकी में गायब! आप चाहें तो ताजा छिलका भी इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन सूखा छिलका ज्यादा कारगर है। जिद्दी चिकनाहट के लिए, छिलके को कुछ देर बर्तन पर रगड़ें और फिर धो लें, तो अगली बार आप पपीता काटें, छिलकों को फेंकने की बजाय चमचमाते बर्तन पाने के लिए इस्तेमाल करें, तो अगली बार जब आप पपीता खाएं, तो जल्दबाजी में इसके छिलके को फेंकें नहीं। इसे इस्तेमाल करने के कई शानदार तरीके हैं, जो न सिर्फ आपके स्वास्थ्य और सौंदर्य का ख्याल रखेंगे, बल्कि आपके घर के कामों को भी आसान बना देंगे।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News