Healthy Habit: सुबह ब्रश करने के पहले क्यों पीना चाहिए पानी? जानें

Healthy Habit: नया दिन शुरू करने के लिए सुबह उठते ही एक गिलास पानी पीना एक बेहतरीन आदत है। यह आपके शरीर को हाइड्रेटेड रखने और कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने का एक सरल तरीका है।

भावना चौबे
Published on -
health

Healthy Habit: जैसा कि कहा जाता है, “जल ही जीवन है” और यह सचमुच में हमारे शरीर के लिए अमृत के समान है। पानी न केवल हमारे शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए आवश्यक है, बल्कि यह हमारे समग्र स्वास्थ्य और भलाई के लिए भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

क्या आप अक्सर थकान महसूस करते हैं? पाचन संबंधी समस्याओं से परेशान रहते हैं? या फिर बेजान त्वचा आपको परेशान करती है? तो ये सभी समस्याओं का समाधान हो सकता है आपकी सुबह की एक आसान सी आदत से – सुबह खाली पेट पानी पीना। जी हां, आपने बिल्कुल सही सुना, सुबह का पानी न केवल आपको हाइड्रेटेड रखता है, बल्कि यह आपके पूरे स्वास्थ्य और सौंदर्य को भी निखारता है। आइए जानते हैं सुबह खाली पेट पानी पीने के कुछ अद्भुत फायदों के बारे में…

सुबह उठकर कितना पानी पीना चाहिए?

नया दिन शुरू करने का सबसे अच्छा तरीका है सुबह उठकर खाली पेट पानी पीना। यह आपके शरीर को हाइड्रेटेड रखने और कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने का एक सरल और प्रभावी तरीका है। लेकिन, सवाल है कि सुबह उठकर कितना पानी पीना चाहिए? इसका जवाब है: यह आपके वजन, गतिविधि स्तर और जलवायु पर निर्भर करता है। लेकिन, एक सामान्य दिशानिर्देश के अनुसार सुबह उठने के तुरंत बाद और ब्रश करने के पहले कम से कम दो गिलास पानी पिएं। जैसे-जैसे आपके शरीर को सुबह पानी पीने की आदत हो जाए, धीरे-धीरे पानी की मात्रा को तीन ग्लास तक लेकर जाएं। अगर आप खाली पेट गर्म पानी पीते हैं तो इससे बेहतर कुछ नहीं है। यह आपके पाचन को बेहतर बनाता है और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है। सुबह पानी पीने के 45 मिनट बाद ही नाश्ता करें।

सुबह ब्रश करने के पहले क्यों पीना चाहिए पानी?

मेटाबॉलिज्म का बूस्टर

रातभर कुछ नहीं खाने के बाद, सुबह का पानी पीने से शरीर का प्राकृतिक तंत्र सक्रिय हो जाता है। इससे हमारा मेटाबॉलिज्म या चयापचय बढ़ता है, जो भोजन को तोड़कर ऊर्जा प्रदान करने की प्रक्रिया है। तेज मेटाबॉलिज्म पाचन को तेज करता है, पोषक तत्वों को तेजी से अवशोषित करता है, और अधिक कैलोरी बर्न करने में भी मदद करता है।

ऊर्जा का स्तर बढ़ाता है

सुबह में अक्सर सुस्ती और थकान महसूस होती है। लेकिन सुबह का पानी इस समस्या का प्राकृतिक समाधान है। यह पाचन में सुधार करता है, जिससे पोषक तत्व तेजी से अवशोषित होते हैं और आपको पूरे दिन ऊर्जावान बनाए रखते हैं। सुबह की सुस्ती को अलविदा कहें और एक नए जोश के साथ अपने दिन की शुरुआत करें।

वजन को कंट्रोल में रखें

जैसा कि बताया गया है, तेज मेटाबॉलिज्म अधिक कैलोरी बर्न करने में मदद करता है। इससे स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद मिलती है। सुबह का पानी वजन नियंत्रण की राह पर आपका पहला कदम हो सकता है।

निखरी और चमकती त्वचा

सुबह खाली पेट पानी पीना सिर्फ शरीर को हाइड्रेट करने का ही तरीका नहीं है, बल्कि यह आपके शरीर को डिटॉक्स करने का भी एक बेहतरीन तरीका है। रात भर सोने के दौरान, हमारे शरीर में अपशिष्ट पदार्थ और विषाक्त पदार्थ जमा हो जाते हैं। सुबह खाली पेट पानी पीने से इन हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है, तो बेजान त्वचा को अलविदा कहें और सुबह के पानी से प्राकृतिक निखार पाएं।

पाचन करें दुरुस्त

एक स्वस्थ मेटाबॉलिज्म न केवल पाचन और वजन को नियंत्रित करता है बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत करता है। यह शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करता है और आपको स्वस्थ रहने में सहायता करता है।

Disclaimer- यहां दी गई सूचना सामान्य जानकारी के आधार पर बताई गई है। इनके सत्य और सटीक होने का दावा MP Breaking News नहीं करता।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News